इस सीट पर संघ के खास को मिला बीजेपी से टिकट, कांग्रेस में खुशी का माहौल

भोपाल। लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने खजुराहो सीट पर प्रत्याशी की घोषणा की है। यहां से वीडी शर्मा को उम्मीदवार बनाया गया है। इससे पहले उनका नाम भोपाल और मुरैना सीट के लिए लिया जा रहा था। वीडी के नाम पर भोपाल में स्थानीय नेता का पेंच फंसा फिर पार्टी ने उनका नाम पीछें खींच लिया। वहीं, मुरैना से  नरेंद्र सिंह तोमर को टिकट दिया जाएगा। लेकिन उन्हें मुरैना से मैदान में उतारा गया। अब खजुराहो से वीडी को उतार कर पार्टी ने संघ की सलाह तो मानली है लेकिन इस फैसले से कांग्रेस में काफी खुशी का माहौल है। 

दरअसल, वीडी शर्मा के लिए खजुराहो पूरी तरह से अनजान है। वह न तो यहां के कार्यकर्ताओं से मुखातिब हैं और न ही स्थानीय लोगों से। वहीं, दूसरी ओर कांग्रेस ने इस सीट पर राजपरिवार की बहू कविता सिंह को टिकट दिया है। वह छतरपुर राघराने की बहू हैं। संघ से जुड़े और चर्चा में आए भाजपा के प्रदेश महासचिव वीडी शर्मा खजुराहो से चुनाव लड़ रहे हैं। खास बात ये है कि न तो खजुराहो लोकसभा क्षेत्र का कोई हिस्सा उनका कार्यक्षेत्र रहा, न वे वहां के निवासी हैं। अपवाद छोड़कर न क्षेत्र के लोग उन्हें जानते हैं और न ही वे खुद क्षेत्र एवं वहां के लोगों से परिचित हैं। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि भाजपा और संघ ने उन्हें दांव पर क्यों लगाया। उनके नाम की घोषणा के साथ भाजपा के अंदर जहां वीडी का विरोध शुरू हो गया है, वहीं, कांग्रेस खेमे में खुशी का माहौल है। बता दें कांग्रेस प्रत्याशी कविता सिंह छतरपुर राजघराने की बहू हैं। उनके पति विक्रम सिंह नातीराजा खजुराहो क्षेत्र की राजनगर सीट से विधायक हैं। वे तीन बार से लगातार चुनाव जीत रहे हैं। नातीराजा की ननिहाल पन्ना राजघराने में है और कविता सिंह भी पन्ना जिले से हैं। ऐसे में भले खजुराहो सीट पर भाजपा का पलड़ा बारी रहा है पर वीडी शर्मा संकट में रहेंगे। 

"To get the latest news update download the app"