शौचालय घोटाला : नगर परिषद् अध्यक्ष, सीएमओ सहित 6 के खिलाफ एफआईआर दर्ज

उमरिया| मध्य प्रदेश के उमरिया जिले की नौरोजाबाद नगर परिषद में हुए शौचलय घोटाले के मामले में अध्यक्ष सुमन गौंटिया सहित छह लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है| कलेक्टर द्वारा गठित तीन सदस्यीय टीम की जांच में घोटाले का जिम्मेदार पाया गया था। नगर परिषद की अध्यक्ष सुमन गौटिया, पूर्व सीएमओ ओमपाल सिंह, वर्तमान सीएमओ जितेन्द्र सिंह परिहार, उपयंत्री मनोज श्रीवास्तव, ओमवती तिवारी और ठेकेदार संजय कुमार साहू के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है| कलेक्टर की तरफ से दर्ज इस एफआईआर में आठ लाख 32 हजार 320 रुपए की अमानत में खयानत का मामला दर्ज किया गया है। 

प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट स्वच्छ भारत अभियान के तहत नौरोजाबाद क्षेत्र में शौचालय बनाने के लिए कुल 660 हितग्राहियों का चयन किया गया था। इन्हीं 660 हितग्राहियों में से 68 हितग्राहियों के शौचालय में गबन किया गया है। इस मामले की शिकायतों के बाद कलेक्टर माल सिंह ने अभिषेक पांडेय नायब तहसीलदार बांधवगढ़, भारतेन्दु सिद्धार्थ गौतम नायब तहसीलदार पाली तथा सुनील सिंह भदौरिया नायब तहसीलदार मानपुर की टीम गठित की और जांच के निर्देश दिए गए थे।  जांच में इन्हे घोटाले का जिम्मेदार पाया गया । 

जांच में सामने आया कि कई हितग्राहियों के यहां शौचालयों का निर्माण ही नहीं हुआ वहीं कई अधूरे बने हुये मिले। जबकि पूरी राशि आहरित कर ली गई। बताया गया कि नगर परिषद् द्वारा 68 शौचालयों में 8 लाख 32 हजार 320 रुपये की अनियमितता की गई।  इसके बाद कलेक्टर द्वारा आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के निर्देश दिए गए थे।  नौरोजाबाद पुलिस ने शौचालय घोटाला मामले में दो एफआईआर दर्ज की है। इस मामले में एक एफआईर में नपं अध्यक्ष सुमन गौंटिया, तत्कालीन सीएमओ ओमपाल सिंह भदौरिया, वर्तमान सीएमओ जितेन्द्र सिंह परिहार, उपयंत्री सोमवती तिवारी, मनोज श्रीवास्तव एवं ठेकेदार संजय कुमार साहू पर धारा 409, 420, 467, 468, 471 एवं 120बी का अपराध दर्ज किया गया है। जबकि दूसरी एफआईआर में पूर्व सीएमओ ओमपाल सिंह के स्थान पर वर्तमान सीएमओ जितेन्द्र सिंह परिहार तथा उक्त चारों लोगों के नाम शामिल किए गए हैं। फिलहाल इन आरोपियों में से किसी की गिरफ्तारी अभी नहीं हो पाई है। जल्द ही इनकी गिरफ्तारी हो सकती है|