EC के नोटिस के बावजूद अपने बयान पर कायम साध्वी, बोली-मस्जिद पर शोक कैसा

भोपाल।

साध्वी द्वारा अयोध्या में विवादित ढांचा गिराए जाने को लेकर दिए अपने बयान पर जहां प्रदेश की राजनीति में भूचाल मचा हुआ है वही आयोग द्वारा नोटिस जारी होने के बावजूद साध्वी अपने बयान पर अडिग है। उन्होंने ट्वीट कर अपनी बात को दोहराया है। साध्वी ने ट्वीट कर लिखा है कि बाबरी मस्जिद गिराए जाने पर शोक कैसा। वही उन्होंने आयोग के नोटिस का जल्द जवाब देने की बात कही है। इधर प्रज्ञा के लगातार विवादित बयानों के बाद बीजेपी में भूचाल आ गया है, खबर है कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज ने उन्हें बीजेपी कार्यालय तलब कर समझाइश भी दी थी, लेकिन सब बेअसर रही।

साध्वी प्रज्ञा ने अपनी बात दोहराते हुए ट्वीट कर लिखा है कि राम केवल हमारे ही नहीं करोड़ों हिन्दुओं की आस्था का प्रतीक हैं। इतिहास दर्शाता है कि मीर बाकी ने मंदिर का आकार बदलकर इसका नाम बाबरी मस्जिद रखा और गुंबदों का निर्माण कराया। यहां तक कि अवशेष भी मंदिर के मिले, तथाकथित मस्जिद पर शोक कैसा? ....वही चुनाव आयोग द्वारा दिए गए नोटिस पर उनका कहना है कि मैंने शनिवार को भी जो कहा था वहीं आज कह रही हूं। मैं अयोध्या गई थी और विवादित ढांचा गिराने में सहयोग किया था। अब मैं अयोध्या में राम मंदिर बनाने खुद जाऊंगी। मुझे चुनाव आयोग से हेमंत करकरे और बाबरी मस्जिद पर दो नोटिस मिले हैं, मैं विधिवत जवाब दूंगी।


शनिवार को ये दिया था विवादित बयान

दरअसल, साध्वी प्रज्ञा ने शनिवार को कैंपेन के दौरान एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था कि राम मंदिर निश्चित रूप से बनाया जाएगा। यह एक भव्य मंदिर होगा। यह पूछे जाने पर कि क्या वह राम मंदिर बनाने के लिए समयसीमा बता सकती हैं, तो प्रज्ञा ने कहा हम मंदिर का निर्माण करेंगे।आखिरकार, हम ढांचा (बाबरी मस्जिद) को ध्वस्त करने के लिए भी तो गए थे।साध्वी प्रज्ञा ने बाबरी मस्जिद गिराने में अपनी अहम भूमिका का जिक्र करते हुए कहा कि वह न सिर्फ बाबरी मस्जिद के ऊपर चढ़ी थीं, बल्कि उसे गिराने में भी मदद की थी। मैंने ढांचे पर चढ़कर तोड़ा था, मुझे गर्व है कि ईश्वर ने मुझे अवसर दिया और शक्ति दी और मैंने यह काम कर दिया। अब वहीं राम मंदिर बनाएंगे।

शिवराज ने दी समझाइश-अब ऐसे बयान ना दे

वही साध्वी प्रज्ञा के विवादित बयानों से अब भारतीय जनता पार्टी की भी मुश्किलें बढ़ रही हैं। इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने साध्वी प्रज्ञा को बीजेपी दफ्तर बुलाया और साथ ही उन्हें आगे से ऐसा न करने की सलाह दी है।शिवराज सिंह ने उन्हे समझाया कि वो अब वो राजनीति में हैं और उनके हर शब्द का अर्थ निकाला जाएगा। इसलिए नियंत्रित रहें। बावजूद इसके साध्वी प्रज्ञा बयान देने से पीछे नही हट रही हैं।

इधर, कांग्रेस ने लगाए गेट वेल सून साध्वी जी के पोस्टर

भोपाल में मध्यप्रदेश कांग्रेस दफ्तर की दीवार पर साध्वी प्रज्ञा सिंह द्वार हेमंत करकरे को लेकर दिए गए बयान के विरोध में पोस्टर लगाए गए हैं। इसमें साध्वी को गेटवेल सून लिखा गया है।यह पोस्टर प्रदेश महासचिव एनएसयूआई आकाश चौहान और देवास विधानसभा महासचिव युवक कांग्रेस के चिंटू घारु द्वारा लगाया गया है।साथ ही लिखा है कि हेमंत करकरे की शहादद को सलाम..।




"To get the latest news update download the app"