TVS Apache RTR 310 लॉन्च, मिल रहें कई नए फीचर्स, BMW के इस बाइक को देगी टक्कर, इतनी है कीमत

Manisha Kumari Pandey
Published on -

Automobile News: ग्लोबल मार्केट में टीवीएस ने अपनी नई स्पोर्टबाइक लॉन्च कर दी है, जिसका नाम TVS Apache RTR 310 है। बाइक आपको Apache RR310 की याद दिला सकती है। हालांकि इसके रियर फ्रेम, सीटिंग सेटअप और टेल सेक्शन में कई बदलाव किए गए हैं। साथ ही कई नए फीचर्स भी जोड़े गए हैं।

TVS Apache RTR 310 लॉन्च, मिल रहें कई नए फीचर्स, BMW के इस बाइक को देगी टक्कर, इतनी है कीमत

कीमत और राइवल

नई अपाचे आरटीआर 310 की कीमत 2.43 लाख रुपये (एक्स शोरूम) है। देखा जाएगा तो इसकी कीमत अपाचे आरआर310 के मुकाबले 29000 रुपये कम है। स्पोर्टबाइक का मुकाबला मार्केट में KTM  390 Duke, Triumph Speed 400 और BMW G 310 R से होगा।

TVS Apache RTR 310 लॉन्च, मिल रहें कई नए फीचर्स, BMW के इस बाइक को देगी टक्कर, इतनी है कीमत

पावरट्रेन के बारे में

नई बाइक 312सीसी लिक्विड कूल्ड सिंगल सिलेंडर इंजन से लैस है, जो 35.6hp पावर और 28.7Nm टॉर्क जनरेट करने में सक्षम है। साथ में 6-स्पीड गियरबॉक्स भी मिलता है। यह आरआर310 की तरह ही लाइटवैट है। नई आरटीआर दिखने में और भी ज्यादा स्पोर्टी है, जो 17 इंच व्हील्स के साथ आती है। इसके 5 रीडिंग मॉड्स हैं।

TVS Apache RTR 310 लॉन्च, मिल रहें कई नए फीचर्स, BMW के इस बाइक को देगी टक्कर, इतनी है कीमत

मिलते हैं ये फीचर्स

बात फीचर्स की करें तो इसमें ऑल-न्यू फुली डिजिटल इंस्ट्रूमेंटेशन मिलता है। जिसमें लैंडस्कैप ऑरिएन्टेड 5.0 इंच टीएफ़टी स्क्रीन शामिल है। इसके ज्यादातर फीचर्स “Built To Order (BTS) कस्टमाइजेशन प्रोग्राम के पैकेज में भीतर आते हैं। जिसमें एडजस्टेबल सस्पेंशन भी शामिल है । इसके अलावा Sportbike में एलईडी हेडलाइट, टेल लाइट, रेस-ट्यून्ड डायनैमिक स्टेबलिटी कंट्रोल, लिनीयर स्टेबिलिटी कंट्रोल, क्रूज कंट्रोल और टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम भी बाइक में मिलता है।

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News