Action: लापरवाही पर कलेक्टर सख्त, 18 अधिकारियों पर लगाया गया जुर्माना

लोक सेवा गारंटी के तहत दी जाने वाली सेवा में कोताही बरतने के जुर्म में 17 अधिकारियों को दंडित किया गया है।

सीहोर, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madya pradesh) में अधिकारियों पर कार्रवाई जारी है। बावजूद इसके अधिकारी कर्मचारियों अपनी लापरवाही से बाज नहीं आ रहे हैं। इसके बाद सीहोर कलेक्टर अजय गुप्ता (ajay gupta) द्वारा 18 शासकीय सेवकों पर लापरवाही बरतने के कारण जुर्माना लगाया गया है।

दरअसल समय पर सीएम हेल्पलाइन (CM Helpline) की शिकायतों का निराकरण न करने और लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत सेवाओं में लापरवाही बरतने की वजह से आष्टा तहसीलदार रघुवीर सिंह मरावी पर 10 हजार का जुर्माना लगाया है। वही लोक सेवा गारंटी के तहत दी जाने वाली सेवा में कोताही बरतने के जुर्म में 17 अधिकारियों को दंडित किया गया है।

Read More: Summer: समय से पहले ही गर्मी ने दी दस्तक, गेहूं की फसल पर पड़ेगा प्रभाव

जहां पर प्रत्येक अधिकारी पर 250 रुपए का जुर्माना लगाया गया है। इन अधिकारियों में ऊर्जा विभाग के जूनियर इंजीनियर एमडी उइके, कनिष्ठ यंत्री उमेश मिश्रा, विकास खंड चिकित्सा अधिकारी प्रवीर गुप्ता, विकास खंड चिकित्सा अधिकारी नसरुल्लागंज मनीष शाश्वत, सिविल सर्जन सीहोर आनंद शर्मा, विकास खंड चिकित्सा अधिकारी इछावर बी बी शर्मा, विकास खंड चिकित्सा अधिकारी बुधनी बी बी देशमुख, नगर पालिका अधिकारी नंदकिशोर परसानिया और कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी कुसुम अहिरवार पर जुर्माना लगाए गए हैं।

इसके अलावा सीहोर कलेक्टर अजय गुप्ता ने सख्त निर्देश देते हुए कहा है कि सीएम हेल्पलाइन के समस्याओं के निराकरण और लोक सेवा गारंटी के तहत दी जाने वाली सेवा में कोताही किसी भी तरह से बर्दाश्त नहीं की जाएगी। वहीं जिन अधिकारियों को इस तरह की लापरवाही करते देखा जायेगा। उसके खिलाफ सख्त से सख्त एक्शन लिया जाएगा।