CM शिवराज के लिए “बागली” बड़ी चुनौती, पूर्वमंत्री, विधायक के बाद अब सांसद ने भी की मांग

देवास।सोमेश उपाध्याय

देवास के हॉटपिपल्या में उपचुनाव के पहले सीएम का प्रस्तावित दौरा चर्चा का विषय बना हुआ है!दरअसल सियासत में सन्त की उपाधि से अलंकृत एमपी के पूर्व सीएम स्व.कैलाश जोशी की जयंती पर सीएम जोशी की प्रतिमा का अनावरण करने हाटपिपल्या आरहे है।जोशी ने चुनाव पूर्व सीएम शिवराज से बागली को जिला बनाने की माँग करि थी पर शिवराज ने चुनावी समीकरण का बहाना बना कर चुनाव बाद बागली को प्रदेश का नया जिला बनाने का वादा किया था।जिसका जिक्र सीएम शिवराज ने चुनावी सभा मे भी किया था।अब जोशी दिवगन्त हो गए है।

और मौका उनकी जयंती का है,ऐसे में बागली क्षेत्रवासियों ने सीएम शिवराज से अपना वादा पूरा कराने का पूरा मन बना लिया है।पिछले 12 वर्षो से जारी बागली जिला बनाओ अभियान ने बीते 15 दिनों से ऐसी गति पकड़ी की पूरा क्षेत्र ही इस अभियान कक हिस्सा बन चुका है।छोटे बच्चे से लेकर 80 वर्ष के बुजुर्ग तक सीएम को अपना वादा याद दिलाने में कोई कसर नही छोड़ रहे है!महिलाएं भी अभियान का हिस्सा है।जो प्रतिदिन नए नए अभियान, वीडियो और गाने अपलोड कर रही है।जनता की माँग के समर्थन ने पूर्व मंत्री दीपक जोशी व विधायक पहाड़ सिंह कन्नोजे ने भी मैदान सम्भाल लिया था।जोशी ने अपना वीडियो जारी कर सीएम शिवराज से अपने पिता की अंतिम इच्छा पूरी कर बागली को जिला बनाने की अपील की जा रही है।

वही विधायक कन्नौजे तो खुल कर जनता के साथ खड़े हो चुके है।वही देर शाम भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और सांसद नन्दकुमार सिंह चौहान ने भी वीडियो जारी कर बागली को जिला बनाने के लिए अपना समर्थन प्रकाट किया है।सांसद चौहान ने कहा कि उन्होंने बागली को जिला बनाने की माँग सीएम शिवराज सिंह चौहान तक पहुचा दी है!चूंकि यब आंदोलन बागली क्षेत्र की जनता द्वरा व्रहद् स्तर पर चलाया जा रहा है।एसे में देखना दिलचस्प होगा कि सीएम शिवराज अपना वादा निभाते है या नही।क्योंकि यहां जनता अपना पूरा मन बना चुकी है।

श्रद्धा सँगम समागम का होगा आयोजन-बागली जिला बनाओ समिति ने पूरा आंदोलन पूर्व सीएम स्व.कैलास जोशी को केंद्र में रख कर ही बनाया है।क्षेत्रिय लोगों ने बागली को जिला बनाना स्व.जोशी के सम्मान से जोड़ रखा है।और क्षेत्र में जोशी के प्रति आदिवासीयो में अपार श्रद्धा है।इसलिए बागलीवासी यहां की मिट्टी और नर्मदा का जल स्व.जोशी की समाधि पर अर्पित करने के बाद जोशी की स्मृति में बागली जिले की मांग दोहराएंगे।इस अभियान को श्रद्धा संगम समागम नाम दिया गया है।2 दिन बन्द रहेगा बागली-बागली को जिला बनाने के समर्थन ने बागली 13 और 14 को पूरी तरह स्वप्रेरणा से बन्द रहेगा।

प्रसाशन के लिए चुनौती-आम तौर पर होने वाले आंदोलन का नेतृत्व नेता करते है।लेकिन बागली जिला बनाओ अभियान का नेतृत्व पूरी तरह जनता के हाथ मे ही है।सांसद ,विधायक से लेकर बच्चे तक अभियान से जुड़े है।सभी स्वप्रेरणा से ही अपनी जिम्मेदारी निभाते है।ऐसे में प्रसासन के लिए यह अभियान किसी चुनौती से कम नही।हालांकि वरिस्ठजनों कमान संभाले हुए है।पर कार्यकारिणी इत्यादि नही बनी है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here