भोपाल: नगर निगम का उदासीन रवैया, कचरा वाहनों की बदहाली से ठप हो रही शहर की सफाई व्यवस्था

* कचरा कलेक्ट कर रहे वाहनों का खराब होना सबसे बड़ा कारण* कचरा कलेक्ट करने वालों वाहनों में से 30% वाहन खराब

नगर निगम

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। शहर में सफाई को लेकर एक बार फिर नगर निगम (municipal Corporation) का रवैया उदासीन नजर आ रहा है। शहर के हर कोने में कूडे के ढेरों ने अपनी जगह बना ली है। ज्यादातर इलाकों में स्थिति यह है कि कचरा कलेक्शन ही नहीं हो रहा है। हर रोज 200 से ज्यादा शिकायतें नगर निगम के पास पहुंच रही है। वो भी सिर्फ इसी बात को लेकर की उनके एरिया में कचरा कलेक्शन की गाडियां ही नहीं आ रही है। जिस वजह से एरिया में गंदगी बढती जा रही है।

दरअसल कचरा कलेक्शन काम के ठप होने के पीछे सबसे बड़ा कारण है, कचरा कलेक्ट कर रहे वाहनों का खराब होना। शहर के कचरा कलेक्ट करने वालों वाहनों में से 30% वाहन खराब हो गए हैं। जो रिपेयर के लिए नगर निगम की वर्कशॉप में हैं। चूंकि त्यौहार का सीजन चल रहा है। दीपावली से पहले हर घर और इलाके से ज्यादा कचरा निकलता है। ऐसे में कचरा वाहनों का सही समय पर रिपेयर ना होना सफाई के प्रति नगर निगम का उदासीन रवैया दिखा रहा है।

यह भी पढ़े : कांग्रेस नेता के घर संचालित हो रहा था जुआ, पुलिस की दबिश, लाखों रुपये जब्त

कैसे होगी बदहाल वर्कशॉप में वाहनों की मरम्मत

नगर निगम के वाहनों की मरम्मत जिस वर्कशॉप में होती है उसकी स्थिति भी खराब हो चुकी है। वर्कशॉप में हर रोज 45 से 50 वाहन आते हैं मरम्मत के लिए और स्टाफ की अगर बात करे तो वर्कशॉप में 25 मैकेनिक और 25 हैल्पर हैं। इतने कम स्टाफ होने के कारण ही यहां काम पेडिंग रहता है। अगर हम पेडिंग काम और रोज की वाहनों की रिपेयरिंग को मिलाकर देखे तो 70 से 80 गाडियां यहां मौके पर सुधरने के लिए खड़ी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here