मध्य प्रदेश में कोरोना का बड़ा ब्लास्ट, शनिवार को आए 1700 नए मामले

कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का लोगों ने पालन नहीं किया है। कई राजनीतिक आयोजन भी इसके लिए जिम्मेदार हैं। प्रदेश में अब तक कोरोना से 3149 लोगों की मौत हुई है।

MP Corona

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। ठंड बढ़ने के साथ-साथ एक बार फिर कोरोना वायरस (coronavirus) अपने पांव पसारने लगा है। मध्यप्रदेश में कोविड-19 (covid19) की दूसरी लहर आ चुकी है। एक बार फिर मरीजों की संख्या बढ़नी शुरू हो गई है। 24 घंटे में 17 सौ नए कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए हैं। हालांकि इससे पहले ये आंकड़ा एक हजार के नीचे चला गया था। कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ- साथ प्रदेश सरकार ने एतियातन राजधानी भोपाल (bhopal) समेत पांच जिलों में रात का कर्फ्यू (curfew) लगाने का फैसला किया है।

प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 1,91,246 हो गई है। शनिवार को कोरोना संक्रमित 11 मरीजों की मौत भी हुई है, मरीजों की मौत का आंकड़ा बढ़कर 3,149 हो गया है। शनिवार को 899 संक्रमित मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। अब तक प्रदेश में 1,76,905 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं, जबकि 11192 मरीज एक्टिव हैं।

इंदौर में कोरोना संक्रमण

इंदौर में शनिवार को 492 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं, जिसके बाद संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 37,115 हो गई है। इंदौर में शनिवार को तीन कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हुई है, अब तक जिले में 729 मरीजों की मौत हो चुकी है, जबकि इंदौर में 120 मरीज कोरोना से जंग जीतकर घर लौटे हैं। जिलेभर में अब तक 33,693 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। जबकि 2,693 कोरोना मरीज एक्टिव हैं।

भोपाल में कोरोना संक्रमण

राजधानी भोपाल में शनिवार को 313 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं, जिसके बाद संक्रमितों की संख्या 29,051 हो गई है। शनिवार को एक मरीज की मौत हुई है, राजधानी में शनिवार तक कुल 504 मरीज कोरोना संक्रमण की वजह से अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं शनिवार को कुल 221 मरीज कोरोना से जंग जीतकर घर लौटे हैं। भोपाल में अब तक 26,415 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। जबकि 2132 कोरोना मरीज अब भी एक्टिव हैं।

Read More: MP Corona: eVIN की मदद से स्वास्थ्य विभाग वितरित करेगा कोरोना वैक्सीन, तैयारियां शुरू

अचानक बढ़े संक्रमण के मामले

मध्यप्रदेश में ठंड के मौसम की शुरूआत होते ही कोरोना के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। खासकर भोपाल और इंदौर जैसे शहरों में कोरोना की दूसरी लहर दिखाई दे रही है। भोपाल में पहली बार शुक्रवार को एक दिन में 425 से ज्यादा केस मिले हैं। कोरोना काल के दौरान कभी भी भोपाल में एक दिन में इतने केस नहीं मिले थे।

इंदौर भी बेहाल

वहीं शनिवार इंदौर में भी नवंबर महीने में आज पहली बार मरीजों की संख्या 400 पार हुई है। इंदौर में 492 संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं। जिससे माना जा रहा है कि एक फिर संक्रमण तेजी से फैला रहा है। ऐसे में प्रशासन की चिंता बढ़ गई है।

क्या है वजह

गौरतलब है कि ठंड भी कोरोना संक्रमण में तेजी की एक वजह हो सकती है, लेकिन अनलॉक होने के बाद भोपाल और इंदौर में लोगों ने काफी लापरवाही बरती हैं। कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का लोगों ने पालन नहीं किया है। कई राजनीतिक आयोजन भी इसके लिए जिम्मेदार हैं। प्रदेश में अब तक कोरोना से 3149 लोगों की मौत हुई है।