बढ़ते कोरोना केसों ने बढ़ाई चिंता, सीएम शिवराज ने की प्रतिबंध की घोषणा, कलेक्टर्स-अधिकारियों को निर्देश

अधिकारियों को निर्देश- ऐसे लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया जाए।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में Corona (MP Corona) के बढ़ते संकट को देखते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (cm shivraj) आपदा प्रबंधन समूह की बैठक ले रहे थे। दरअसल इस बैठक में सभी मंत्री, विधायक सहित कलेक्टर-अधिकारी को शामिल किया गया था। 11:00 बजे से शुरू हुई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (video conferencing) के माध्यम से इस बैठक में केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (scindia) भी मौजूद रहे। सीएम शिवराज ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जो भी लोग अपना पता गलत दे, उनके खिलाफ प्रकरण दर्ज किया जाए। ऐसे लोग तेजी से संक्रमण को फैलाने के जिम्मेदार हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि तीसरी लहर में अभी इस तरह की पिक सामने आ रही है। जल्द ही केस और तेजी से बढ़ेंगे। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राहत की बात यह है कि संक्रमित मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत नहीं पड़ रही है। उन्होंने होम आइसोलेशन पर सभी कलेक्टरों को ध्यान देने के निर्देश दिए हैं।

CM Shivraj के महत्वपूर्ण निर्देश

  • सीएम शिवराज ने कहा कि सभी तरह के मेलों, राजनैतिक रैलियों पर प्रतिबंध रहेगा।
  • कोई भी कार्यक्रम हॉल की क्षमता से 50 फीसदी लोग होने पर ही होंगे।
  • 250 से ज्यादा लोग हॉल में नहीं रहेंगे।
  • स्टेडियम में भी पचास फीसदी खिलाड़ी प्रैक्टिस कर सकेंगे।
  • किसी भी खेल गतिविधि में दर्शकों की अनुमति नहीं होगी।
  • सभी प्रकार के बड़े आयोजनों पर भी रोक प्रदेश में नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा।
  • 20 जनवरी से होने वाली प्री बोर्ड की परीक्षा नही होगी।
  • इंदौर-भोपाल हाई रिस्क जोन में मौजूद है। हालात नहीं सुधरे तो और कड़े प्रतिबंध लग सकते हैं।

CM शिवराज ने कलेक्टर को निर्देश दिए हैं कि जो भी व्यक्ति गलत पता है मोबाइल नंबर दे रहे हैं उनके खिलाफ प्रकरण दर्ज करें गलत पता और मोबाइल नंबर देने वाले लोग तेजी से संक्रमण फैलाने के जिम्मेदार हो रहे हैं। वहीं प्रदेश में कोरोना की संक्रमण दर 6 फीसद हो गई है। वहीं दूसरी ओर की तुलना में तीसरी लहर में कैसे 3 गुना ज्यादा तेजी से बढ़ रहे हैं। दुनिया में 1 दिन में 34 लाख मामले देखने को मिल रहे हैं।

Read More : पंचायत चुनाव पर बड़ी अपडेट: इस महीने हो सकते हैं चुनाव! OBC आरक्षण पर 17 को बड़ा फैसला

सीएम शिवराज ने कहा कि कोविड से तीसरी लहर से मुकाबले की तैयारी चाक-चौबंद और व्यवस्थाएं दुरुस्त रखें। टीकाकरण का कार्य निरंतर जारी रहे। बैठक में सीएम शिवराज ने इंदौर में निजी तौर पर अधिक टेस्ट की जानकारी मिलने पर निर्देश देते हुए कहा कि यदि प्रायवेट रूप से टेस्ट हों तो उन्हें भी रिकॉर्ड में लिया जाए।
सीएम शिवराज ने कहा कि कोविड के 3.3 प्रतिशत मरीज ही एडमिट हैं, चिंता नहीं करना है लेकिन असावधान भी नहीं होना है, व्यवस्थाएं बेहतर बनाकर रखें। इस लहर में सबसे जरूरी है होम आइसोलेशन। होम आइसोलेशन में सावधानी के प्रति जागरूकता फैलायें। सीएम शिवराज ने प्रदेश में टीकाकरण की स्थिति की जानकारी ली। सीएम शिवराज ने कहा कि वैक्सीनेशन के कार्य में लापरवाही बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी। घर-घर दस्तक दें, टीकाकरण का कार्य पूर्ण हो। वैक्सीन ही कोविड से सुरक्षा का मजबूत कवच है।

सीएम शिवराज ने कहा कि सभी मामलों की संख्या अभी और तेजी से बढ़ेगी। सब को सचेत और सावधान रहने की जरूरत है। राजधानी भोपाल में कलेक्टर अविनाश लवानिया ने जानकारी देते हुए बताया कि 3852 मरीज होम आइसोलेशन की सुविधा में हैं। जबकि कमांड सेंटर से प्रतिदिन उनसे बात की जा रही है। इंदौर कलेक्टर का कहना है कि इंदौर में 101 मरीज अस्पताल में भर्ती है लगातार मरीजों की देखभाल की जा रही है। बड़ी संख्या में लोगों की जांच की जा रही है।