सीएम शिवराज ने की समीक्षा बैठक, फसल नुकसान को लेकर अधिकारियों को दिए निर्देश

सुबह 10:30 बजे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीएम हाउस में बैठक की। इस दौरान मनीष रस्तोगी द्वारा जिलेवार ओलावृष्टि और बारिश की जानकारी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को उपलब्ध कराई गई।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में मौसम (weather) की मार से सबसे ज्यादा नुकसान किसानों (farmers) को हुआ है। ओलावृष्टि (Hail) और लगातार बारिश (rain) से फसलों को काफी नुकसान हुआ है। जिसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) ने आज अपने निवास स्थान में ओलावृष्टि की स्थिति में समीक्षा बैठक की। इस दौरान सीएम शिवराज (CM Shiraj) ने अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए।

दरअसल सुबह 10:30 बजे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीएम हाउस में बैठक की। इस दौरान मनीष रस्तोगी द्वारा जिलेवार ओलावृष्टि और बारिश की जानकारी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को उपलब्ध कराई गई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बिजली गिरने से पशु हानि की भी जानकारी उपलब्ध कराई गई।

Read More: Breaking: सिंधिया के काफिले के सामने गिरा पुलिसकर्मी, ज्योतिरादित्य ने की मरहम पट्टी

जिसके बाद प्रदेश में 7 लोगों की लापरवाही से हुई मृत्यु के बाद उनके परिवार को आर्थिक सहायता देने के निर्देश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को दिए। इसके साथ ही फसल हानि के सर्वे (serve) करने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं सीएम शिवराज ने कहा कि तत्काल प्रभाव से फसल नुकसान की जानकारी ली जाए।

उन्होंने कहा किसानों को सर्वे के बाद आवश्यक सहायता मिलेगी। मोटे तौर पर 15 से 20 जिलों में वर्षा हुई है। क्षति का आकलन किया जा रहा है।सीएम शिवराज ने अधिकारियों को  निर्देश दिए कि ईमानदारी से सर्वे कार्य हो। सर्वे रिपोर्ट पंचायत में चस्पा की जाए। आवश्यकतानुसार फसल बीमा योजना लाभ दिलाने कार्य हो।
मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि जहां जन हानि हुई है प्रावधान अनुसार चार चार लाख की राशि प्रभावित परिवारों को दी जाए। पशु हानि प्रकरणों में भी सहायता दी जाए। कृषि विभाग,राजस्व विभाग संयुक्त निरीक्षण करें। राजस्व पुस्तक परिपत्र के प्रावधान के अनुसार मदद की जाए।

इतना ही नहीं सीएम शिवराज ने कहा कि किसान अपनी फसल नुकसान की जानकारी स्वयं भी दे सकते हैं। वही ओलावृष्टि बारिश के कारण हुई हानि का जो मुआवजा दिया जाएगा। उसकी जानकारी पंचायत भवन में चस्पा की जाए। इसके भी निर्देश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को दिए हैं। बैठक में सीएस सहित वरिष्ठ अधिकारी केके सिंह और अजीत केसरी भी मौजूद रहे।