सीएम शिवराज ने की कोरोना स्थिति की समीक्षा बैठक, दिए निर्देश- सुनिश्चित हो ये काम

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना के इलाज के लिए वर्तमान में कुल 37 हजार 719 बिस्तर हैं। जिनमें से 21 हजार 516 सरकारी अस्पतालों में तथा 16 हजार 213 निजी अस्पतालों में हैं। एम्स भोपाल से 500 बिस्तरों का अनुबंध किया गया है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesH) में लगातार कोरोना (corona) के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए बीते दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) ने समीक्षा बैठक की। इस दौरान भविष्य की आवश्यकताओं को देखते हुए जिला में बिस्तर बढ़ाने, ऑक्सीजन (oxygen) की आपूर्ति बढ़ाने और रेमेडीसिवीर (Remdisvir) इंजेक्शन के लिए युद्ध स्तर पर प्रयास जारी किए गए हैं। सीएम शिवराज ने सभी जिलों को निर्देश दिए हैं कि होम आइसोलेशन की पूरी जानकारी प्रशासन के पास रहनी चाहिए। वही होम आइसोलेशन (home isolation) में रहने वाले लोगों पर ध्यान दिया जाना आवश्यक है।

इसके साथ ही सीएम शिवराज ने कहा कि प्रदेश में 49 जिलों में कोविड़ केयर सेंटर शुरू कर दिए गए हैं। वहीं केंद्र सरकार द्वारा 450 एमटी ऑक्सीजन की स्वीकृति मिल गई है। उसे जल्द से जल्द मध्यप्रदेश लाने की व्यवस्था की जा रही है। होम आइसोलेशन के मरीजों को दवाओं एवं चिकित्सा परामर्श के साथ ही आवश्यकता होने पर अस्पताल ले जाने के लिए एम्बुलेंस की व्यवस्था भी की जाए।

साथ ही सीएम शिवराज ने निर्देश दिए हैं कि कोरोना के टेस्ट के बाद ही 24 घंटे में रिपोर्ट मिल जानी चाहिए। यह सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री शिवराज ने निर्देश दिए कि ऑक्सीजन संयंत्रों से प्रदेश में ऑक्सीजन लाने के लिए ऑक्सीजन टैंकरों को फॉलो एवं पायलट गार्ड दिए जाए। जिससे रियल टाईम में ऑक्सीजन प्रदेश पहुँच सके। ऑक्सीजन लाने के लिए ग्रीन कॉरीडोर भी बनाया जाए।

Read More: बुरहानपुर: 7 दिन के बंद का विरोध, विपक्षी दलों ने बंद के आदेश को बताया तुगलकी फरमान

सीएम शिवराज ने कहा कि प्रदेश में आज 175 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जिलों को उपलब्ध करा दिए जाएंगे वहीं बड़े अस्पतालों में लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट भी जल्दी शुरू किया जाएगा। अभी तक 42 हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन प्राप्त हुए हैं। मायलान कम्पनी को 50 हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन का आर्डर दिया गया है, जो शीघ्र प्रदेश को प्राप्त होंगे। इसके अलावा सिपला आदि कंपनियों से भी रेमडेसिविर इंजेक्शन ख़रीदे जा रहे हैं।

आगे की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना के इलाज के लिए वर्तमान में कुल 37 हजार 719 बिस्तर हैं जिनमें से 21 हजार 516 सरकारी अस्पतालों में तथा 16 हजार 213 निजी अस्पतालों में हैं। एम्स भोपाल से 500 बिस्तरों का अनुबंध किया गया हैजिनमें से 165 बिस्तर आई.सी.यू. के हैं। भोपाल में अभी 6,361 बिस्तर हैंजिन्हें बढ़ाकर 9,822 किए जाने की योजना है। इसी प्रकार इंदौर में वर्तमान में 6,774 बिस्तर हैं, जिन्हें 13 हजार किया जा रहा है। जबलपुर में 3,150 बिस्तर हैं जिन्हें बढ़ाकर 5,132 किया जा रहा है। उज्जैन में 1090 बिस्तर हैं, जिन्हें बढ़ाकर 1933 किया जा रहा है।

शिवराज ने लोगों से अपील की है कि स्थिति चिंताजनक है लेकिन आम जनता के सहयोग से इस पर काबू पाया जा सकता है। उन्होंने लोगों से मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और शासन द्वारा उपलब्ध कराए गए। सभी गाइडलाइन का पालन करने की बात कही है।