MP College Reopen : प्रदेश में 1 जनवरी से खुलेंगे कॉलेज, छात्रों को इन नियमों का करना होगा पालन

ज्ञात हो कि मध्य प्रदेश में मेडिकल इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, पॉलिटेक्निक सहित सभी शासकीय और गैर शासकीय कॉलेजों की खोलने पर सहमति बन गई है।

स्कूल शिक्षा विभाग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना (corona) को लेकर सख्ती के बाद मध्य प्रदेश में 1 जनवरी से सभी शासकीय (government) और अशासकीय कॉलेज (private colleges) खोले जाएंगे। उच्च शिक्षा विभाग (higher education department) ने इसके लिए तैयारियां कर ली है। उच्च शिक्षा विभाग ने कॉलेज खोलने को लेकर गाइडलाइन जारी की है।

दरअसल मध्य प्रदेश में 1 जनवरी से सभी सरकारी और गैर सरकारी कॉलेज खोले जाएंगे। जहाँ 1 से 10 जनवरी तक केवल प्रैक्टिकल (practical) की कक्षा लगाई जाएगी। वही यूजी फाइनल ईयर (UG Final Year) और पीजी तृतीय सेमेस्टर की नियमित कक्षा 10 जनवरी से शुरू की जाएगी। ज्ञात हो कि मध्य प्रदेश में मेडिकल इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, पॉलिटेक्निक सहित सभी शासकीय और गैर शासकीय कॉलेजों की खोलने पर सहमति बन गई है।

Read More: हबीबगंज स्टेशन का नाम होगा “अटल जंक्शन”!, प्रस्ताव बनाकर रेलवे बोर्ड को भेजेगी सरकार

हालांकि इसके लिए गाइडलाइन (guideline) जारी की गई है। जिसके मुताबिक कॉलेज जाने से पहले छात्रों को अभिभावकों की लिखित अनुमति लेनी होगी। वही प्रबंधन 50% क्षमता के आधार पर ही छात्रों को कॉलेज बुला पाएंगे। कॉलेजों में प्रवेश के साथ ही कोरोना संबंधित अन्य सभी सावधानियां बरती जाएगी। इसके अलावा किसी भी तरह की सार्वजनिक गतिविधि और खेल सहित अन्य कार्यक्रमों पर प्रतिबंध रहेगा।

वही जो विद्यार्थी कॉलेज नहीं आना चाहते हैं, प्रबंधन उन पर दबाव नहीं बना सकता है। इसके साथ ही पूर्व में चली आ रही ऑनलाइन कक्षा (online classes) जारी रहेगी। बिना मास्क (mask) के कॉलेज में किसी भी छात्र को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। प्रदेश के हॉस्टल (hostel) भी पूरी तरह से बंद रहेंगे। वही कॉलेज की लाइब्रेरी (library) केवल किताब लेने और जमा करने के लिए खुली रहेंगी। छात्र लाइब्रेरी में बैठ कर पढ़ाई नहीं कर सकेंगे।

इसके साथ ही 20 जनवरी तक कक्षा आयोजित करने के बाद सभी जिलों के आपदा प्रबंधन (disaster management) की बैठक होगी। जिसके बाद कक्षा के आगे संचालन पर निर्णय लिया जाएगा। वही कॉलेजों में अभी सिर्फ स्नातक अंतिम वर्ष और परास्नातक अंतिम सेमेस्टर की कक्षाएं ही आयोजित की जाएंगी।