कोरोना काल में सरकार के इस आदेश पर भड़की कांग्रेस, कही ये बड़ी बात

सांख्यिकी विभाग ने तर्क दिया है कि मृत्यु का कारण केवल डॉक्टर ही बता सकते हैं इसलिए विभाग कारण नहीं लिख सकता।

MP

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना (Corona) में जान गंवाने वाले परिजन के मृत्यु प्रमाण पत्र (Death Certificate) पर मृत्यु का कारण (Cause Of Death) कोरोना लिखवाने के लिए परेशान हो रहे प्रदेश के लोगों को सरकार ने तगड़ा झटका दिया है।  प्रदेश के सांख्यिकी विभाग (Statistics Department) ने आदेश दिया है कि मृत्यु प्रमाण पत्र (Death Certificate) पर मौत का कारण नहीं लिखा जाएगा।  इस आदेश के बाद उन लोगों की परेशानी बढ़ गई है जिन्हें कोरोना से उनके परिजन की मृत्यु पर सरकार द्वारा घोषित 1 लाख रुपये अनुग्रह राशि मिलने की उम्मीद थी। उधर सांख्यिकी विभाग के इस आदेश पर कांग्रेस ने कड़ा एतराज जताया है और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) पर निशाना साधा है।

कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के चलते प्रदेश में हजारों लोगों ने अपनों को खो दिया।  पिछले दिनों सरकार ने ऐसे लोगों को सांत्वना दी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने घोषणा की कि कोरोना से मृत्यु होने वाले व्यक्ति के परिजन को सरकार की तरफ से 1 लाख रुपये अनुग्रह राशि दी जाएगी।

सरकार की घोषणा के बाद लोगों को लगा कि सरकार की इस मदद से उनका कुछ दिन जीवन यापन हो जाएगा लेकिन जब उन्होंने मृत्यु प्रमाण पत्र (Death Certificate) हासिल करने की कोशिश की तो उनकी सही परीक्षा शुरू हुई। मृत्यु प्रमाण पत्र (Death Certificate) जारी करने वाली संस्थाओं ने मृत्यु प्रमाण पत्र (Death Certificate) पर मृत्यु का कारण (Cause Of Death)  कोरोना लिखने से इंकार कर दिया, उधर बहुत से निजी अस्पताल पहले से ही मरीजों के डिस्चार्ज टिकट पर मृत्यु का कारण (Death Certificate)  कोरोना नहीं लिख रहे थे। केवल सरकारी अस्पताल में ही कोरोना से मृत्यु होने पर मृत्यु का कारण (Death Certificate) कोरोना लिखा जा रहा है।

ये भी पढ़ें – नरोत्तम मिश्रा बोले- वैक्सीन पर सवाल उठाने वाले पाकिस्तानी वैक्सीन लगवा लें, लेकिन सुपर स्प्रेडर न बने

परेशान लोगों ने सरकारी कार्यालयों के चक्कर काटने शुरू किये लेकिन निराशा ही हाथ लगी। ग्वालियर में पिछले दिनों  कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक परेशान लोगों को लेकर नगर निगम की जन्म मृत्यु शाखा पहुंचे वहां उन्होंने रजिस्ट्रार एवं उपायुक्त डॉ प्रदीप श्रीवास्तव को जमकर खरी खोटी सुनाई। उपायुक्त ने कहा कि मामला शासन के पास है जैसे दिशा निर्देश आएंगे हम उसका पालन करेंगे।

ये भी पढ़ें – सरकार का बड़ा फैसला, पेंशन नियम में किए संशोधन, इन पर लगी रोक

और अब सांख्यिकी विभाग ने आदेश जारी किया है कि मृत्यु प्रमाण पत्र (Death Certificate) पर मृत्यु का कारण नहीं लिखा जायेगा।  सांख्यिकी विभाग ने तर्क दिया है कि मृत्यु का कारण केवल डॉक्टर ही बता सकते हैं इसलिए विभाग कारण नहीं लिख सकता। सांख्यिकी विभाग के इस आदेश ने उन लोगों के लिए परेशानी खड़ी कर दी है जो सरकार द्वारा घोषित 1 लाख की अनुग्रह राशि लेने की अस लगाए बैठे हैं।

ये भी पढ़ें – Gold Silver Rate : सोने चांदी की कीमतों में बड़ी गिरावट, खरीदने से पहले जानें भाव

सरकार के इस आदेश के बाद कांग्रेस हमलावर हो गई है।  कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता एवं वरिष्ठ नेता केके मिश्रा ने इसे लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा है।  केके मिश्रा ने लिखा – जिसका डर था बेदर्दी, वही बात हो गई।  सांख्यिकी विभाग का नया फरमान-“मप्र में मृत्यु प्रमाण पत्र पर नहीं लिखा जाएगा मौत का कारण”, कमलनाथ जी सही हैं या शिवराज जी? अच्छा चलिए मोदी-शिवराज के फोटो ही लगा दीजिये ताकि? प्रचार की भूख भी खत्म?