कांग्रेसी नेता मल्लिकार्जुन खड़गे का बयान, बहुत समझाया पर नहीं माने सिंधिया

नई दिल्ली।

प्रदेश के पल पल बदलते माहौल को अचानक से चौंकाते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया। जिसके तुरन्त बाद बीजेपी ने सिंधिया को राज्यसभा का टिकट दे दिया। सिंधिया के भाजपा में शामिल होने के बाद उनको लेकर कांग्रेसी नेताओं की प्रतिक्रियाएं सामने आई है। सिंधिया के बीजेपी मैं शामिल होने के सवाल पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने अब बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मुझे बुरा लग रहा है कि सिंधिया ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया। मैंने उन्हें काफी समझाया था की पार्टी छोड़ने की कोई आवश्यकता नहीं है, किंतु वह नहीं माने। वह एक युवा और अच्छे संचालक हैं किंतु पार्टी एक विचारधारा पर बनी होती है और इसे मानने वाले को पार्टी को मजबूत करने का काम करना चाहिए। वहीं उनसे यह भी कहा कि व्यक्तिगत लाभ और हानि सभी के जीवन का हिस्सा है। आप 4 बार सांसद रहे कई पदों पर भी रहे हैं इसलिए पार्टी छोड़ने का विचार छोड़ दे। किंतु उन्होंने किसी की बात नहीं सुनी और पार्टी से इस्तीफा दे दिया।

इससे पहले प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने बयान देते हुए कहा था कि सिंधिया के जाने से कांग्रेस को कोई झटका नहीं लगा है। दिग्विजय सिंह ने सिंधिया के भाजपा में शामिल होने के बाद उन्हें बधाई देते हुए कहा था कि सिंधिया को बधाई, ईश्वर उनकी सुरक्षा करें। वहीं बागी विधायकों के वीडियो पर उन्होंने कहा कि यह पहले की वीडियो है। सरकार को कोई खतरा नहीं और सरकार चलेगी। पार्टी के अंदर किसी को कोई शिकायत नहीं है। यह सब भाजपा की सोची समझी साजिश है।

गौरतलब हो कि इससे पहले छह मंत्रियों सहित 22 बागी विधायकों ने एक वीडियो जारी करते हुए सिंधिया के समर्थन की बात की थी। वही सिंधिया के इस्तीफे के साथ प्रदेश में सिंधिया समर्थक नेताओं के इस्तीफा देने का दौर चल पड़ा है।