सीहोर, अनुराग शर्मा 

सोमवार को कांग्रेसजनों ने शहर के पावर हाउस चौराहे से रैली निकालकर विद्युत वितरण कंपनी के आफिस में बिजली के बढ़े हुए दामों को लेकर प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज मुर्दाबाद के नारे लगाए। इस मौके पर कांग्रेसजनों ने कहा कि लॉक डाउन के बाद प्रदेश सरकार ने बिजली के बिल माफ करने का वादा किया था, लेकिन अब हजारों रुपए के बिजली के बिल थमाए जा रहे है। उपभोक्ताओं और कांग्रेसजनों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ज्यादा राशि के बिजली बिल देकर आमजन से जबरिया वसूली कर रही है। जिसका विरोध कांग्रेस पार्टी द्वारा किया जा रहा है। आगामी 30 अगस्त को क्रमिक धरना और अनशन किया जाएगा।

वहीं नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष राकेश राय ने कहा कि इस माह बिलों में बेतहाशा वृद्धि हुई है। जिससे गरीब व मध्यमवर्गीय उपभोक्ताओं का बजट बिगड गया है। कमलनाथ सरकार में गरीब और मध्यम वर्गीय लोगों के बिल 100 रुपए आते थे, लेकिन शिवराज सरकार में 5000-5000 के बिल देकर गरीबों को लूट रही है। इस संबंध में जानकारी देते हुए जिला महामंत्री हरीश आर्य ने कहा कि भोपाल का काल सेंटर बंद हो गया है। जिसके कारण उपभोक्ताओं को काफी परेशानी आ रही है। इसके अलावा जिन उपभोक्ताओं के बिल त्रुटिपूर्ण आए है, वह बिजली कार्यालय में इधर-उधर भटक रहे है।

इन सभी मांगों के निराकरण को लेकर ज्ञापन सौंपा गया। इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ओम वर्मा, नईम नवाब, कुतुबद्दीन शेख, दरशथ सिंह परमार, मोहन मेवाडा, हरीश आर्य, पवन राठौर, मृदुल तोमर, नरेन्द्र खंगराले, मांगीलाल टिमरई, बाबूलाल सूर्यवंशी, ताराचंद यादव, राजा यादव, मुन्ने मियां, नावेद खान, शहरूख, तौसिफ सईद, अवधेश परमार, शागिर भाई, नयाब सर, आसिफ पठान, अफसर अली, शमशुद्दीन भाई, सुरेश ठाकुर निवारिया, मीरा बाई, नीतू सिंह, ममता शर्मा आदि शामिल थे।