Indore में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, मौत का आंकड़ा 100 पहुंचा

इंदौर।आकाश धोलपुरे

मई माह का एक पखवाड़ा बीत चुका है और दूसरे पखवाड़े की शुरुआत में ही इंदौर में कोविड-19(covid19) से मरने वालों का की संख्या 100 तक जा पहुंची है। शनिवार को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी(CMHO) कार्यालय द्वारा जारी की गई रिपोर्ट(Report) के मुताबिक 92 नए कोरोना पॉजिटिव(corona positive) सामने आए है जिसके बाद कोविड -19 से संक्रमितों की संख्या अब तक 2470 तक जा पहुंची है। दरअसल, रेड जोन(red zone) में पहुंचे इंदौर(indore) में कोरोना से जुड़े नित नए केस(new case) सामने आ रहे है इंदौर में जिला प्रशासन के लिए किसी बड़े सरदर्द से कम नही है वही मध्यप्रदेश(madhya pradesh) की शिवराज(shivraj) सरकार भी कोरोना से संक्रमितों मरीजो के बड़ते आंकड़ो को लेकर चिंतित है।

हालांकि ऐसा नही है कि सरकार और प्रशासन द्वारा कोई काम नही किया जा रहा बल्कि लंबे समय तक लॉक डाउन में रहने वाले लोगो की नियमो की अनदेखी करने से भी मामले तेजी से बढ़ रहे है। ऐसे में अब शहर के लोगो को मास्क लगाने, बार बार हाथ धोने की प्रक्रिया और सोशल डिस्टेसिंग के पालन को जीवन का अहम हिस्सा मानकर जीवन जीना सीख लेना चाहिए। कोरोना से डरने के बजाय उसका सामना बचाव के तरीकों से ही किया जा सकता है लिहाजा सेनेटाइजर का इस्तेमाल करना अब बेहद जरूरी है। क्योंकि कोरोना संक्रमण अब छोटी गलतियों और बेफिक्री के चलते बढ़ रहा है। आर्थिक पहलू को नकारा नही जा सकता है बावजूद इसके अब शहर के हर बाशिंदे को इंसानियत और ईमानदारी की मिशाल पेश करने का वक्त भी आ गया। जिस शहर में बिना किसी मांग के समाज सेवा से जुड़े लोग खुद आगे आकर मदद कर रहे है उनसे व्यापारिक सोच रखने वालों को सीख लेने की दरकार भी है।

आंकड़ों की बात की जाए तो इंदौर में अब 1251 पॉजिटिव मरीजो का इलाज जारी है और इसी आंकड़े को नियंत्रित करने के लिए कोरोना वारियर्स दिन रात मेहनत कर रहे है। CMHO रिपोर्ट के मुताबिक आज 19 लोगो को अलग अलग अस्पतालों से डिस्चार्ज किया गया जिसके बाद कुल 1119 लोग अब तक कोरोना को हराकर घर लौट चुके है। वही क्वारेंटाइन सेंटर्स से शनिवार को 244 लोग डिस्चार्ज किये गए है जिसके बाद इन सेंटर्स से अब 2305 लोग डिस्चार्ज हो चुके है। कोरोना से जुड़े आंकड़े रोज बदलते रहेंगे लेकिन जरूरत है कि लोग सतर्क रहें और घरों में ही सुरक्षित भी रहे क्योंकि जरा सी लापरवाही किसी को भी आंकड़ो की एक संख्या में तब्दील करने लिए काफी है। लिहाजा, कोरोना विस्फोट को रोकने के लिए तार काटने का काम भी हर एक शख्स को करना है। इसलिए आपसे अपील है घर मे रहे सुरक्षित रहे और अपनों का ख्याल रखे।