कलेक्टर ने बायो फ्लॉक फिश फार्मिंग का किया निरीक्षण, दिए आवश्यक निर्देश

दतिया। सत्येन्द्र सिंह रावत।

कलेक्टर रोहित सिंह द्वारा आज जेपी सिंह बायो फ्लॉक फिश फार्मिंग दतिया का निरीक्षण किया गया। जिसमें पंगेसिउस,कॉमन सर्प,सिंधी,कोई प्रजाति की मछलियों का उच्च तकनीकी से उत्पादन व पालन किया जा रहा है। कलेक्टर द्वारा अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत धनंजय मिश्रा को निर्देश दिए कि वे जिले में प्रत्येक विकासखंड से SHG स्व सहायता समूह की महिलाओं को आवश्यक रूप से एक दिवसीय फिश फार्मिंग का प्रशिक्षण दिलवाए ।

इस हेतु DPM nrlm के साथ मिलकर प्रस्ताव तैयार कर आवश्यक प्रशिक्षण दिलवाए। कलेक्टर रोहित सिंह द्वारा सहायक संचालक मत्स्य अवस्थी जी को निर्देशित किया गया कि प्रत्येक विकासखंड में एक एक मॉडल के रूप में बायो फ्लॉक फार्मिंग का प्रस्ताव तैयार कर बैंकों को प्रस्ताव भेजें। ताकि जिले के मत्स्य उत्पादन को नई दिशा मिल सके।फार्म के संचालक जेपी सिंह द्वारा बताया गया कि फिश फार्म वर्ष 2018 में स्थापित किया जाकर बायो फ्लॉक सिस्टम लगाया गया है। जिसमे लगभग 10 मेट्रिक टन मत्स्य उत्पादन प्रतिवर्ष हो रहा है। साथ ही फिश फॉर्म में पूरे देश के मत्स्य पालकों को सशुल्क प्रशिक्षण भी दिया जाता है।

अभी तक 3000 से अधिक कृषिकों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है ।फार्म में स्वयं के फार्मूले से तैयार प्रोडक्ट एवं अन्य बायोफ्लेक्स फिटिंग मटेरियल भी विक्रय के लिए उपलब्ध है कलेक्टर द्वारा जिले में स्थापित फिश फार्म की जानकारी अन्य फिश फार्मर को भी अवगत कराने के निर्देश भी सहायक संचालक मत्स्य को दिए गए।निरक्षण के दौरान एसीईओ जिला पंचायत धनंजय मिश्रा ,गिरीराज दुबे मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद दतिया, नितेश भार्गव तहसीलदार, अनिल कुमार अवस्थी सहायक संचालक मत्स्य उद्योग, राजेश कुमार पाठक सहायक मतस्यउद्योग अधिकारी एवं मुकेश विश्वकर्मा उपस्थित रहे।