इंदौर : मकर संक्रांति पर मायके आई महिला की मौत, लोगों ने पुलिस पर लगाया ये आरोप

इंदौर के सांवेर में अवैध शराब बनाने वालों पर कार्रवाई करने गई पुलिस टीम पर भीड़ ने हमला भी कर दिया। वहीं पुलिस कार्रवाई में एक महिला को धक्का लग गया जिसके बाद महिला गिर गई और अस्पताल ले जाते वक्त महिला ने दम तोड़ दिया।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। मध्यप्रदेश के मुरैना में जहरीली शराब पीने से हुई 22 मौतों के बाद सरकार और प्रशासन की नींद खुल गई है और इसी का परिणाम है कि प्रदेशभर के अलग-अलग जिलों में आबकारी विभाग और पुलिस द्वारा दबिश देकर अवैध शराब बनाने वालों पर कार्रवाई की जा रही है। इंदौर में भी बुधवार रात को पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए अवैध शराब बनाकर बेचने वालों पर शिकंजा कसते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं उसके साथी मौके से भाग खड़े हुए। बता दें कि इंदौर के सांवेर में अवैध शराब बनाने वालों पर कार्रवाई करने गई पुलिस टीम पर भीड़ ने हमला भी कर दिया और देर रात तक हंगामा चलता रहा। इतना ही नहीं पुलिस कार्रवाई के दौरान एक महिला को धक्का लग गया जिसके बाद महिला गिर गई और अस्पताल ले जाते वक्त महिला ने दम तोड़ दिया।

धक्का-मुक्की में गिरने के बाद महिला की मौत

इस घटना के बाद ग्राम बडोदिया खान के लोगों ने पुलिस थाने का घेराव कर जमकर प्रदर्शन किया। लोगो ने हंगामा मचाकर महिला की मौत के दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग के साथ ही मृतक महिला ममता सोलंकी है, जो मूलतः देपालपुर की रहने वाली थी, लेकिन मकर संक्राति पर्व होने के चलते वो अपने मायके ग्राम बडोदिया खान आई थी। जिसकी एक दिन पहले ही उसकी मौत हो गई। मृतक महिला के मामा संतोष डाबी की माने तो जब अवैध शराब वालो पर पुलिस द्वारा कार्रवाई की जा रही थी तब ही भगदड़ के दौरान एक पुलिसकर्मी द्वारा धक्का लगने से उनकी भांजी ममता की मौत हो गई।

स्थानीय लोगों ने पुलिस थाने में किया हंगामा

बता दे कि महिला की मौत के बाद पुलिस थाने पर हंगामा खड़ा हो गया लिहाजा, इंदौर से अतिरिक्त पुलिस बल मौके पर भेजना पड़ा वही एडीएम अजय देव शर्मा मौके पर पहुंचे। जहां उन्होंने लोगो को समझाइश दी। एडीएम अजय देव शर्मा के मुताबिक घटना की जांच और पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही महिला की मौत की वजह सामने आ पाएगी। वहीं सांवेर सर्कल के सीएसपी हरीश मोटवानी ने बताया कि घटना के हर बिंदु की जांच पुलिस बारीकी से कर रही है।

अवैध शराब बेचने वालों पर कार्रवाई के दौरान हुई घटना

बता दें कि अवैध शराब बेचने वालों पर कार्रवाई के दौरान घटना हुई। जिसके चलते पुलिस और स्थानीय लोग आमने सामने हो गए और इस दौरान कई पुलिसकर्मियों के घायल होने की जानकारी भी सामने आ रही है। वही सांवेर पुलिस ने कई लोगों पर बलवा की धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया है। लोगों के मुताबिक बुधवार की दरमियानी रात पुलिस डायल 100 टीम को सांवेर के पास बड़ोदिया खान ग्राम में शराब दुकान पर अवैध रूप से शराब बिकने की सूचना मिली थी. सूचना के बाद पुलिस जब मौके पर पहुंची, तो वहां विवाद हो गया। जिसके बाद गांव के करीब 50 लोगों ने डायल-100 की टीम को गांव में ही घेर लिया।

पुलिस ने कई धाराओं में किया मामला दर्ज

भीड़ ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया, महिला की मौत के बाद थाने का घेराव किया। इस दौरान भगदड़ हो जाने के कारण एक महिला रास्ते में गिर गई, जहां वह भगदड़ में गंभीर रूप से घायल हो गई। महिला की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। लोगों ने महिला की मौत का जिम्मेदार पुलिस को ठहराते हुए रात करीब 12 बजे लोगों ने बड़ोदिया थाने का घेराव कर दिया। लिहाजा सांवेर पुलिस की सूचना पर देर रात ही इंदौर से भारी पुलिस बल सांवेर रवाना करना पड़ा। स्थानीय लोगों का आरोप है कि पुलिस द्वारा धक्का दिए जाने से घायल होने पर महिला की मौत हुई है। वहीं इस घटना में कई पुलिसकर्मियों के भी घायल होने की सूचना है। घायल पुलिसकर्मियों को इलाज के लिए अरविंदो अस्पताल भेजा गया है। घटना में कई पुलिस वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए हैं। घटना के बाद सांवेर पुलिस ने बड़ी संख्या में लोगों के खिलाफ हमला बलवा समेत कई धाराओं में मामला दर्ज किया है।