nata

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| विद्यार्थियों की परीक्षा लेने वाले शिक्षक (Teacher) अब खुद परीक्षा (Exam) देंगे| शिक्षण सत्र 2019-20 में 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा में जिन स्कूलों का परीक्षा परिणाम (Exam Result) 40 फीसद से कम आया है, उन स्कूलों के शिक्षकों की योग्‍यता जांचने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा परीक्षा ली जायेगी| यह परीक्षा 27 और 28 दिसम्बर को आयोजित होगी| इस परीक्षा में प्रदेश से 7 हजार 910 शिक्षक शामिल होंगे।

शिक्षकों ने स्कूल शिक्षा विभाग के इस फैसले का विरोध भी करना शुरू कर दिया है। शिक्षकों का कहना है कि विभाग को पहले कक्षा के शिक्षकों से खराब परिणामों के कारणों के बारे में पूछना चाहिए और फिर रणनीति तैयार करनी चाहिए। बता दें कि स्कूलों के शिक्षकों की योग्‍यता जांचने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा ओपन बुक पैटर्न पर परीक्षा आयोजित की जाएगी। यानी शिक्षक पाठ्यपुस्तक रखकर परीक्षा दे सकते हैं। लेकिन पाठ्यपुस्तक के अतिरिक्त गाइड, प्रादर्श प्रश्न आदि किताबों का उपयोग नहीं कर सकेंगे।

27 और 28 को होगी परीक्षा, किताब साथ रख सकेंगे
हाइ एवं हायर सेकेंडरी स्कूलों के शिक्षकों की परीक्षा 27 दिसंबर को दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक आयोजित होगी। वहीं माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों की परीक्षा 28 दिसंबर को दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक होगी। सभी विषयों के शिक्षकों की परीक्षा होगी।

पिछले साल भी हुई थी परीक्षा, 16 को दी गई थी अनिवार्य सेवानिवृत्ति
पिछले साल भी कुछ इसी पैटर्न पर शिक्षकों की दक्षता परीक्षा ली गई थी| स्कूल शिक्षा विभाग ने दसवीं बोर्ड परीक्षा में 30 फीसद से कम परीक्षा परिणाम लाने वाले स्कूलों के शिक्षकों की परीक्षा दो बार ली थी। दुबारा फेल होने व अनुपस्थित रहने पर प्रदेश के 16 शिक्षकों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी गई थी।