विद्या बालन शूटिंग मामले में वन मंत्री विजय शाह ने दी सफाई, विवेक तन्खा ने साधा निशाना

वन मंत्री विजय शाह पर यह भी आरोप लगाए हैं कि अभिनेत्री विद्या बालन ने मंत्री के डिनर (dinner) को ठुकरा दिया। जिसकी वजह से उनकी फिल्म की शूटिंग रोकने का प्रयास किया गया था।

विजय शाह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में शूटिंग (Shooting) के लिए आई अभिनेत्री विद्या बालन (Vidya balan) के शूटिंग यूनिट को रोकने के मामले में वन मंत्री विजय शाह (viajy shah) पर आरोप थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। कांग्रेस लगातार उन पर हमलावर हो रही है। वही अब इस पर राज्यसभा सांसद और कांग्रेस के दिग्गज नेता विवेक तन्खा (vivek tankha) ने निशाना साधा। विवेक तन्खा ने कहा है कि मध्य प्रदेश के मंत्री जी की हरकत ने प्रदेश को शर्मिंदा किया है।

राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने कहा है कि भाजपा (bjp)का नैतिक सोच का तराजू यही है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बॉलीवुड (bollywood) में मध्यप्रदेश और शासन के बारे में लोगों की क्या सोच बनेगी, यह सोचने का विषय है। विवेक तन्खा ने कहा कि मध्य प्रदेश के मंत्री ने प्रदेश को शर्मिंदा करने का काम किया लेकिन भाजपा को इस से क्या फर्क पड़ने वाला। बता दें कि इससे पहले कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा (narendra saluja) ने भी शिवराज सरकार (shivraj government) को घेरने का काम किया था। इसके साथ ही कांग्रेस ने मांग की थी कि राज्य शासन को इस मामले में माफी मांगनी चाहिए।

ज्ञात हो कि वन मंत्री विजय शाह पर लगातार सवाल उठ रहे हैं कि वन मंत्री विजय शाह के कहने पर अफसर ने प्रोडक्शन टीम के वाहनों को जंगल में प्रवेश नहीं करने दिया था। वन मंत्री विजय शाह पर यह भी आरोप लगाए हैं कि अभिनेत्री विद्या बालन ने मंत्री के डिनर (dinner) को ठुकरा दिया। जिसकी वजह से उनकी फिल्म की शूटिंग रोकने का प्रयास किया गया था।

इस मामले में अब वन मंत्री विजय शाह (viajy shah) ने भी अपनी सफाई पेश की है। वन मंत्री विजय शाह का कहना है कि बालाघाट (balaghat) में शूटिंग के लिए प्रोडक्शन टीम ने प्रशासन की अनुमति ली थी। जिसके बाद टीम ने ही मेरे साथ डिनर का अनुरोध किया था। वन मंत्री ने बताया कि वह महाराष्ट्र यात्रा पर निकल रहे थे। इस वजह से डिनर का प्रोग्राम रद्द किया गया था। उन्होंने कहा कि शूटिंग पर रोक नहीं लगाई गई थी। इसके साथ ही वन मंत्री विजय शाह ने बताया कि डीएफओ (DFO) ने गाड़ी इसलिए रोकी थी क्योंकि शूटिंग के लिए दो जनरेटर जाते थे लेकिन जिस दिन गाड़ी रोकी गई उस दिन उन्होंने कई जनरेटर ले जाने की कोशिश की थी। जिस पर अधिकारियों ने एक्शन लिया था।

इधर इस मामले में जिल एंटरटेनमेंट लिमिटेड के प्रोड्यूसर सैयद अली (Producer Syed Ali) का कहना है कि मध्य प्रदेश सरकार के वन विभाग की तरफ से उन्हें शूटिंग में कोई दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ा है। वही डिनर पर सफाई देते हुए प्रोड्यूसर सैयद अली ने कहा कि जिला प्रशासन की मदद से स्पेशल डिनर का अरेंजमेंट किया गया था। जहां वन मंत्री को भी बुलाया गया था। वही प्रोड्यूसर ने यह भी कहा कि डिनर पहले से तय था लेकिन वन मंत्री नहीं पहुंच पाए और साथ में विद्या बालन भी नहीं थी। सैयद अली ने कहा कि डिनर की वजह से शूटिंग में कोई व्यवधान उत्पन्न नहीं किया गया था। जनरेटर की वजह से शूटिंग को रोका गया था लेकिन बाद में प्रशासन ने वाहन को जाने की अनुमति दे दी थी।

बता दें कि मध्यप्रदेश के बालाघाट में बॉलीवुड अभिनेत्री विद्या बालन अपनी फिल्म शेरनी की शूटिंग के लिए पहुंची थी। जहां मध्यप्रदेश के वन मंत्री विजय शाह ने अभिनेत्री विद्या बालन को डिनर का न्योता दिया था पर अभिनेत्री विद्या बालन डिनर पर नहीं पहुंच पाई। जिसके बाद अभिनेत्री के शूटिंग यूनिट को जंगल में प्रवेश करने से रोक दिया गया था।