इंदौर : नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन के साथ एक युवक गिरफ्तार, क्राइम ब्रांच की कार्रवाई

वैक्सीन

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर क्राइम ब्रांच ने नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन (Remedesivir) के साथ एक युवक को पकड़ा है। कहा जा रहा है कि ये व्यक्ति हिमाचल की किसी कंपनी से लेकर आया है। इसके पास से करीब 400 के करीब रेमेडेसिवीर इंजेक्शन बरामद हुए हैं। फिलहाल पुलिस और ड्रग डिपार्टमेंट ये जांचने में जुटा है कि रेमडेसिवीर के लेबल लगी हुई दवा असर में क्या है।

ये भी देखिये – नागपुर से इंदौर पहुंचे 200 रेमडेसिविर इंजेक्शन, स्टेट प्लेन से अलग अलग जिलों को हुए उपलब्ध

पुलिस के मुताबिक खंडवा रोड से डॉ विनीत त्रिवेदी नाम के युवक को गिरफ्तार किया गया है। पीथमपुर में पकड़े गए डॉ विनीत की फार्म कंपनी की भी लगी जानकारी। क्राइम ब्रांच के साथ अब ड्रग विभाग भी मामले की तफ्तीश कर रहा है कि रेमडेसिवीर के लेबल के साथ जो दवा बरामद हुई है वो असल में क्या है। बताया जा रहा है कि पकड़े गए युवक की पीथमपुर में कोई फार्मा यूनिट है।

बता दें कि इंदौर में लगातार रेमडेसिवीर इंजेक्शन की कमी के बीच सरकार इसकी उपलब्धता के तमाम प्रयास कर रही है। रेमडेसिवीर इंजेक्शन की बड़ी खेप गुरुवार सुबह सड़क मार्ग नागपुर से इंदौर पहुंची। इंदौर से अब इन्हें स्टेट प्लेन और चॉपर द्वारा अलग अलग जिलों में भेजा जा रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार 200 बॉक्स में कुल 9600 रेमडेसिवीर इंजेक्शन हैं। जिनमें से चॉपर के माध्यम से 42 बॉक्स भोपाल, 7 बॉक्स रतलाम और 4 बॉक्स खंडवा पहुंचाया जाएंगे। इसी तरह स्टेट प्लेन के द्वारा 19 बॉक्स ग्वालियर, 18 बॉक्स रीवा, 39 बॉक्स जबलपुर और 14 बॉक्स सागर पहुंचाये जाएंगे‌। वही 57 रेमडेसिवीर इंजेक्शन के बॉक्स इंदौर के लिए रखे जाएंगे। लेकिन इसी बीच रेमडेसिवीर की कालाबाजारी और इसके नाम पर नकली दवाओं की खबरें भी पुलिस को लग रही है। इसी सिलसिले में क्राइम ब्रांच ने आज एक युवक को गिरफ्तार किया है।