कांग्रेस स्थापना दिवस पर कमलनाथ का बयान- वापस आते करेंगे यह बड़ा काम

इसके साथ ही कांग्रेस स्थापना दिवस पर बोलते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि हमें गर्व है कि हम ऐसे पार्टी के लिए कार्य कर रहे हैं। जिसने एक ही झंडे के नीचे देश को संगठित रखा।

नेता प्रतिपक्ष

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट  मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में कांग्रेस की स्थापना दिवस (congress foundation day) के मौके पर नए कृषि कानूनों (farm law) के खिलाफ मौन धरना दे रही है। जिसके लिए पूर्व मुख्यमंत्री और मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ (kamalnath) विधायकों के साथ सांकेतिक ट्रैक्टर लेकर विधानसभा पहुंचे हैं। वही पत्रकारों से बात करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में उनकी सत्ता वापस आते ही वह एमएसपी (MSP) पर सख्त कानून बनाएंगे।

मौन धरने से पहले कमलनाथ ने कहा कि मध्य प्रदेश में किसानों के हित में न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम पर खरीदी करने को अपराध बनाया जाएगा और इसके लिए सख्त सजा का प्रावधान किया जाएगा। इसके साथ ही कांग्रेस स्थापना दिवस पर बोलते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि हमें गर्व है कि हम ऐसे पार्टी के लिए कार्य कर रहे हैं। जिसने एक ही झंडे के नीचे देश को संगठित रखा।

Read More: राज्यपाल से मुलाकात के बाद अब अमित शाह से मिलेंगे “दादा”, BJP में जाने की अटकलें तेज

इसके साथ ही कमलनाथ ने बड़ा एलान करते हुए कहा है कि नए साल में कृषि कानूनों के विरोध में कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ता किसान संघर्ष तिरंगा यात्रा निकालेंगे। प्रदेश के सभी जिलों के कांग्रेसी सेवादल किसानों से मुट्ठी भर अनाज और गांव की मिट्टी लेकर 15 जनवरी को कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय पहुंचेंगे और किसानों का समर्थन करेंगे।

पीसीसी चीफ कमलनाथ ने कहा कि देश की आजादी में कांग्रेसी जनों का सबसे बड़ा हाथ है। वहीँ बीजेपी पर निशाना साधते हुए कमलनाथ ने कहा कि जो लोग खुद को राष्ट्रवादी कह रहे हैं वे अपनी पार्टी से एक स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का नाम बताएं। वहीँ कमलनाथ ने कहा कि जब उन्होंने पहला चुनाव लड़ा था तब भाजपा का जन्म भी नहीं हुआ था। अब ये राष्ट्रवाद की बड़ी बड़ी बातें करते हैं। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि हम किसानों की मांग के साथ है। केंद्र सरकार को किसानों के हित में फैसले लेने चाहिए और तीनों काले कृषि कानूनों को वापस लेना चाहिए।