Liquor एसोसिएशन के आव्हान पर बंद रही शराब की दुकानें, सरकार से किया ये अनुरोध

सीहोर।अनुराग शर्मा

आज सीहोर जिले की सभी शराब की दुकानें प्रदेश लिकर एसोसिएशन के आव्हान पर बंद रहने से शराब के शौकीन लोगो मे काफी निराशा देखने को मिली। प्रदेश सरकार ने हालांकि आज से सम्पूर्ण प्रदेश में रेड ,ग्रीन और ऑरेंज जॉन के आधार पर सशर्त वाईन शाप खोलने की शुरुआत की। मगर प्रदेश की लिकर एसोसिएशन अपनी शर्तों के अनुरूप लिकर की शाप खोलना चाहती थी।

इसलिए आज प्रदेश में लिकर एसोसिएशन के आव्हान पर शराब की दुकाने बंद रखी गई है। सीहोर में निवास करने वाले प्रदेश लिकर एसोसियेशन के अध्यक्ष अखिलेश राय ने स्थानीय मीडिया से चर्चा करते हुए बताया कि हम लॉक डाउन में पूरी तरह लिकर व्यापार बंद रखने के पक्षधर है। कल भोपाल में हमारी एसोसिएशन ने आबकारी आयुक्त से इस बारे में विस्तार से चर्चा भी की थी। दरअसल हमने सरकार से निवेदन किया है कि कोरोना महामारी(corona pandemic) में लिकर कारोबार बंद रखकर हम भी सहयोग देना चाहते है। अगर हम शराब का कारोबार शुरू कर दे हमे रेड ज़ोन से माल मंगवाना पड़ेगा और कर्मचारी भेजने पड़ेंगे। जिससे कोरोना पॉजिटिव होने के बहुत चांसेस(chances) है। साथ ही इस लॉक डाउन के चलते पूरा आर्थिक बाजार भयंकर मंदी के दौर में रहेगा। ऐसे में हमारा वर्तमान आबकारी शर्तो में काम करना मुश्किल हो गया है। इसलिए मध्य प्रदेश लिकर एसोसिएशन चाहती कि उत्तर प्रदेश सरकार की तरह यहां की सरकार वर्ष 2020 की सेवा शर्तों के मुताबिक कमीशन का डिडक्शन करे ताकि हम कारोबार कर सके।