ग्वालियर, अतुल सक्सेना

मध्य प्रदेश की राजनीति में उबाल लाने वाले सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) पर इस समय जनता के साथ साथ मीडिया की भी निगाहें हैं। विरोधी दल भी उनपर नजरें गड़ाये हैं। शनिवार को भारतीय जनता पार्टी के संभागीय सदस्यता ग्रहण समारोह में जब वे पहुंचे तो ज्योतिरादित्य सिंधिया के गले में गमछा चर्चा का विषय बन गया।

दरअसल ग्वालियर में आज से तीन दिवसीय संभागीय सदस्यता ग्रहण समारोह शुरू हुआ है जिसमें सिंधिया समर्थकों के साथ साथ बहुत से कांग्रेस कार्य कर्ता भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर रहे हैं। इस कार्य क्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा, मंत्री भारत सिंह, मंत्री प्रद्युम्न सिंह, पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मंच पर मौजूद थे। लेकिन मंच की खास बात ये थी कि सिंधिया के गले में पड़े गमछे को छोड़कर भाजपा नेता अपनी पार्टी का गमछा डाले थे जबकि सिंधिया तीन रंग का वही गमछा डाले थे जो वे हमेशा से गले में पहने रहते हैं। जैसे ही लोगों की नजर इस पर गई वहाँ चर्चा होने लगी। लोग कहने लगे सिंधिया जी अभी भी कांग्रेस का ही गमछा डाले हैं उधर कार्यक्रम में मौजूद कुछ इसे राष्ट्र ध्वज के तीन रंगों से जोड़कर बता रहे थे। हालांकि कुछ देर बाद जब अतिथियों का स्वागत भाजपा के गमछे से हुआ तो वो सिंधिया के गले में भी पहुँच गया। बहरहाल चूंकि सिंधिया या उनसे जुड़ी कोई भी चीज पर इस समय मीडिया और जनता की नजर रहती है इसलिए वो तत्काल चर्चा में आ जाती है।

"महाराज" का गमछा बना चर्चा का विषय, भाजपा की जगह पहने थे तीन रंग का गमछा "महाराज" का गमछा बना चर्चा का विषय, भाजपा की जगह पहने थे तीन रंग का गमछा