मध्य प्रदेश : इंदौर में लगी भीषण आग, स्टेशनरी शॉप सहित कॉचिंग संस्थानों की किताबे खाक

आग कैफे से शुरू हुई, लेकिन साइड में दुकानों में किताब होने के कारण यह फैलती चली गई और कोचिंग सेंटर में भी किताबे और फर्नीचर होने के कारण इसने भीषण रूप ले लिया।

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। इंदौर के भंवरकुआं इलाके में शुक्रवार को भीषण आग लग गई, जहां इसकी चपेट में एक कैफे, एक स्टेशनरी की दुकान सहित तीन कोचिंग सेंटर आ गए। फायर ब्रिगेड की टीम ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाया। घटना में किसी को चोट नहीं पहुंची है।

दरअसल, यह आग कैफे से शुरू हुई, लेकिन साइड में दुकानों में किताब होने के कारण यह फैलती चली गई और कोचिंग सेंटर में भी किताबे और फर्नीचर होने के कारण इसने भीषण रूप ले लिया।

ये भी पढ़े … रेलवे स्टेशन की लिफ्ट में फंसे 28 यात्री, मचा हड़कंप

कोचिंग सेंटर्स की छुट्टी होने के कारण एक बड़ा हादसा टल गया।

जानकारी के मुताबिक, सुबह करीब सात बजे के लगभग यहां आग की शुरूआत हुई थी। कंट्रोल रूम पर सूचना मिलने के बाद मौके पर फायर फाइटर्स को तुरंत भेजा गया, लेकिन तब तक आग बेकाबू हो चुकी थी। जिस कैफे से आग की शुरूआत हुई थी, उसकी दीवार से सटी हुई वी थ्री नाम की किताबों की दुकान है। किताबों में आग लगने के कारण यह फैलती चली गई। दुकान के दो हिस्सों में लकड़ी की अलमारी में किताबें पूरी तरह से जलकर खाक हो गई।

कोचिंग संस्थानों तक पहुंची आग,फर्नीचर सहित पूरा सामान जला

इसके बाद आग की लपटों ने विष्णु गुप्ता कोंचिग क्लासेस और आग्नेय इंस्टि्टयूट सहित अनय कोचिंग को भी चपेट में ले लिया, जहां फर्नीचर सहित रखी किताबे राख हो गई।

ये भी पढ़े … सिंगरौली में 16 साल के पति को लेकर फरार हुई 32 की तलाकशुदा महिला

फायर ब्रिगेड के मुताबिक, आग बुझाने में करीब 12 टैंकर से अधिक पानी लगा। आग को बढ़ता देख नगर निगम के कुछ टैंकर बाहर से भी से बुलाए। कोचिंग संचालकों ने बताया कि छुट्टियों के चलते अभी नए बैच शुरू नहीं हुए है। हालांकि, एक कोचिंग में बैच करीब सात बजे शुरू होना था। लेकिन आग के चलते बच्चे अंदर नही आए।