ग्वालियर, अतुल सक्सेना। अवैध उत्खनन को लेकर कांग्रेस लगातार मध्यप्रदेश सरकार पर हमलावर है। कांग्रेस के  वरिष्ठ विधायक एवं पूर्व मंत्री डॉ गोविन्द सिंह मुख्यमंत्री सहित उनकी सरकार पर लगातार अवैध उत्खनन करने वालों को संरक्षण देने के आरोप लगाते रहते हैं।  लेकिन अब शिवराज सरकार के राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया ने अवैध उत्खनन के मुद्दे पर गोविन्द सिंह पर पलटवार किया है और नसीहत दी है कि जिनके घर शीशे के होते हैं वे दूसरों के घर  पर पत्थर नहीं फेंकते।

राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत को भिंड दौरे के लिए रिसीव करने ग्वालियर आये राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया ने मीडिया से बात करते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा।  उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासनकाल की गलत नीतियों का भुगतान आज मध्यप्रदेश की जनता भुगत रही है।

ये भी पढ़ें – MP School: मप्र में इस दिन से खुलेंगे स्कूल, कक्षा में प्रवेश के ये होंगे नियम

पेट्रोल डीजल की कीमतों को लेकर साधा निशाना 

राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया ने कहा कि पेट्रोल डीजल की कीमतें कांग्रेस के शासनकाल में बढ़ी थी तीन बार कांग्रेस ने पेट्रोल पर टैक्स बढ़ाये हैं।  चूँकि पेट्रोल डीजल के दाम अंतरराष्ट्रीय मार्केट से तय होते हैं हमारा नियंत्रण नहीं होता फिर भी हमारी सरकार ने पूरे एक डेढ़ साल के कार्यकाल में पेट्रोल डीजल पर कोई कर नहीं बढ़ाया जो टैक्स कांग्रेस  बढाकर गई है उसकी वजह से आम आदमी पर बोझ पड़ा हैं।  हम भी चाहते हैं कि पेट्रोल डीजल के दाम कम होने चाहिए और इसके लिए सरकार प्रयासरत है।

ये भी पढ़ें – Electricity: बिजली बिलों पर सीएम शिवराज ने ऊर्जा विभाग को दिए महत्वपूर्ण निर्देश

SDO श्रद्धा पांढरे के ट्रांसफर को बताया रुटीन प्रक्रिया 

शिवराज सरकार के राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया ने कहा कि पुलिस और प्रशासन ने श्रद्धा पांढरे का भरपूर सहयोग किया है जब भी उन्होंने कोई कार्रवाई की तो उसमें सरकार का समर्थन उनको था. रहा सवाल स्थानांतरण और पद स्थापना ये शासन की अपनी प्रक्रिया है उसी के तहत कार्रवाई होती है कोई अधिकारी कहीं भी स्थाई रूप से नहीं रहता। मंत्री भदौरिया ने कांग्रेस के अवैध उत्खनन और श्रद्धा पांढरे से डरने के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि कांग्रेस को आत्ममंथन करना चाहिए , कांग्रेस के शासन में अवैध उत्खनन होता था भाजपा के शासन में नहीं होता और यदि होता है तो तत्काल कार्रवाई की जाती है।  उन्होंने दावा किया कि पुलिस और माफिया के बीच गठबंधन जैसी कोई बात सरकार की नजर में नहीं है यदि ऐसी कोई बात सामने आती है तो उसपर निश्चित रूप से कार्रवाई होगी।

ये भी पढ़ें – नगर निगम का सफाई दरोगा 5000 की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार, लोकायुक्त की कार्रवाई

पूर्व मंत्री डॉ गोविन्द सिंह को दी नसीहत 

राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया ने दावा किया कि भाजपा के शासनकाल में मध्यप्रदेश में अवैध उत्खनन पूरी तरह से बंद हैं।जहाँ भी इस तरह की गतिविधिया होती हैं वहां शासन और प्रशासन सख्त कार्रवाई करता है।  कोंग्रेस के वरिष्ठ विधायक एवं पूर्व मंत्री गोविन्द सिंह के आरोपों के सवाल पर राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया ने  आरोप लगाने के अलावा और कर भी क्या सकते हैं? वे खुद अपने कार्यकाल में अवैध उत्खनन नहीं रोक पाए और ये उन्होंने खुद ही कहा था। वे  इस समय  खिसियानी बिल्ली खम्बा नोचे कहावत को चरितार्थ कर रहे हैं।  मंत्री ओपीएस भदौरिया ने डॉ गोविंद सिंह को नसीहत देते हुए कहा कि उन्हें आत्म विश्लेषण करना चाहिए आरोप लगन ऐसे पहले क्योंकि जिनके घर शीशे के होते हैं वो दूसरों के घर पर पत्थर नहीं फेंका करते।