bjp

बंगाल, डेस्क रिपोर्ट। पश्चिम बंगाल (west bengal) में एक अलग ही नजारा देखने को मिल रहा है। एक तरफ जहां बंगाल चुनाव (bengal election 2021) के बाद पश्चिम बंगाल की सड़कों पर कैलाश विजयवर्गीय गो बैक (Kailash Vijayvargiya’s Go Back) के पोस्टर (posters) लगा दिए गए हैं। वहीं दूसरी तरफ BJP के 300 से अधिक कार्यकर्ता शुक्रवार को BJP का हाथ छोड़ TMC में शामिल हो गए हैं।

दरअसल विधानसभा चुनाव के बाद एक बार फिर से उलटफेर देखने को मिल रहा है। जहां TMC की जीत के बाद बीजेपी से कई नेता अब तक टीएमसी में वापसी कर चुके हैं। वहीं बड़े-बड़े दिग्गज नेताओं के साथ-साथ अब कार्यकर्ताओं ने भी पाला बदलना शुरू कर दिया है। इसी बीच शुक्रवार को 300 से अधिक कार्यकर्ताओं की टीएमसी में घर वापसी हुई है।

Read MoreSuspend: लापरवाही पर गिरी गाज, CEO ने 2 पंचायत सचिवों को किया तत्काल प्रभाव से निलंबित

बता दें कि पश्चिम बंगाल में ममता की जीत के बाद BJP  के 300 से अधिक कार्यकर्ता TMC ऑफिस के सामने भूख हड़ताल पर बैठे थे। वहीं कार्यकर्ताओं की मांग थी कि इन्हें दोबारा पार्टी में शामिल किया जाए। कार्यकर्ताओं का कहना था कि TMC को छोड़ BJP में शामिल होने के साथ ही उनके द्वारा अपने गांव के विकास को रोक दिया गया है।

जिस पर आज सुबह 3 घंटे तक TMC ऑफिस के सामने शुद्धिकरण अभियान चलाया गया। इसमें सुबह 8:00 बजे से लेकर 11 बजे तक बारी-बारी सभी कार्यकर्ताओं को बुलाकर उन पर गंगाजल छिड़क कर उनका शुद्धिकरण किया गया। इसके साथ ही BJP के 300 से अधिक नेता कार्यकर्ता TMC में शामिल हो गए हैं।

हालांकि इस मामले में BJP का कहना है कि टीएमसी द्वारा बीजेपी कार्यकर्ताओं को जबरदस्ती टीएमसी में शामिल करवाया जा रहा है। बता दें कि इससे पहले बीजेपी से मुकुल रॉय (mukul rai) TMC में वापसी कर चुके हैं। वहीं TMC का दावा है कि बड़ी संख्या में विधायक सहित दिग्गज बीजेपी छोड़ TMC में वापस आना चाहते हैं।