MP Corona Alert: 24 घंटे में मिले 2091 मरीज, त्योहारों के लिए आज जारी होगी गाइडलाइन

आज होने वाले क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में होली सहित अन्य त्यौहारों को मनाए जाने पर बड़ा निर्णय लिया जाएगा।

coronavirus

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में कोरोना (MP Corona) बेकाबू हो गया है। दरअसल गुरुवार को 1885 मरीज मिलने के बाद शुक्रवार को प्रदेश में 2091 मरीजों की पुष्टि हुई है। स्वास्थ विभाग द्वारा शुक्रवार सुबह रिपोर्ट जारी की गई है। जिसके मुताबिक एमपी (MP) में एक्टिव केसों (Active Case) की संख्या बढ़कर 12038 पहुंच गई है।

दरअसल गुरुवार को राजधानी भोपाल में 425 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। वही संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार हो रही बढ़ोतरी को देख कर आगामी त्योहारों पर नई गाइडलाइन (New Guideline) जारी की जाएगी। इसके लिए कलेक्टर द्वारा आज क्राइसिस मैनेजमेंट (Crisis Management) की अहम बैठक होगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रतिबंध के संकेत दिए हैं। खजुराहो से लौटने के बाद आज शाम को कोरोना को लेकर सीएम शिवराज हाई केवल मीटिंग करेंगे। वहीँ उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो आपात धर्म का पालन करूँगा। होली सहित अन्य त्योहारों पर भी बड़ा फैसला होगा।

हालांकि गृह मंत्रालय की तरफ से जारी गाइडलाइन के मुताबिक अब जहां संक्रमित मरीज अधिक होंगे। उन्हें चिन्हित कर उस जगह को कंटेनमेंट जोन (Containment Zone) बनाए जाने की तैयारी की जा रही है। वही कंटेनमेंट जोन के अंदर सभी तरह की गतिविधियों पर प्रतिबंध रहेगा। आज होने वाले क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में होली सहित अन्य त्यौहारों को मनाए जाने पर बड़ा निर्णय लिया जाएगा।

Read More: घरेलू गैस उपभोक्ताओं के पास बड़ा मौका, 800 की कीमत वाले सिलेंडर सिर्फ 119 में, जाने यहां

दुकान के खुलने और बंद होने के समय में कुछ और कटौती की जा सकती है। इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पर सख्ती शुरू की जाएगी। खेलकूद सहित अन्य कार्यक्रमों पर रोक लगने की भी संभावना है। साथ ही एक जगह अधिक लोग के शामिल होने और कार्यक्रमों को लेकर प्रशासन सख्ती की तैयारी करेगी।

बता दें कि इससे पहले गृह मंत्रालय द्वारा जारी किए गाइडलाइन के मुताबिक स्विमिंग पूल और सिनेमाघर को बंद कर दिया गया है। ज्यादा केस आने वाले 7 जिलों में रविवार को लॉकडाउन लगाया गया है। प्रदेश में जांच की क्षमता बढ़ाई जा रही है। वहीं गुरुवार को 29 हजार से अधिक लोगों के सैंपल जांच के लिए लिए गए थे। प्रदेश में 29 प्रयोगशाला में संक्रमण की जांच की जा रही है। वहीं कुछ सैंपल को बाहर के प्रयोगशाला में भी भेजा जा रहा है।