MP News

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सोमवार को कर्मचारियों (employees) के बीच हुए हंगामे के बाद निर्वाचन अधिकारी (Election officer) द्वारा मंत्रालय कर्मचारी संघ की कार्यकारिणी चुनाव (Ministry Employees Union Executive Election) को स्थगित कर दिया गया है। इस मामले में निर्वाचन अधिकारी ने आदेश जारी कर दिए हैं। दरअसल संघ कार्यकारिणी के चुनाव के लिए 23 मार्च को नामांकन भरा जाना था। वहीं इसके लिए मतदान 26 मार्च को होने थे। जिसे अब स्थगित किया गया है।

बता दे कि कर्मचारी संघ की कार्यकारिणी चुनाव में नामांकन भरने से 1 दिन पूर्व भी कर्मचारियों द्वारा जमकर हंगामा किया गया। जहां कर्मचारियों ने चुनाव अधिकारी के सामने लिखित आपत्ति दर्ज कराई। इन आपत्तियों में कहा गया है कि जारी मतदाता सूची में मृत और सेवानिवृत्त कर्मचारियों के नाम को भी शामिल किया गया है। इसके अलावा गैर और बाहरी कर्मचारी के नाम भी मतदाता सूची में शामिल है। जो मतदान के लिए योग्य नहीं है।

Read More: MP: सहकारिता विभाग की बड़ी कार्रवाई, 9 अध्यक्ष-उपाध्यक्ष 3 साल तक चुनाव लड़ने के लिए अपात्र

इतना ही नहीं कर्मचारियों द्वारा सुधीर नायक (sudhir nayak) के खिलाफ नारेबाजी भी की गई। सुधीर नायक मंत्रालय कर्मचारी संघ के अध्यक्ष हैं। वही दूसरे गुट द्वारा आपत्ति को पूर्ण रूप से अस्वीकार किया गया। जिसके बाद नारेबाजी तेज हुई। साथ ही कर्मचारियों की मांग है कि मतदाता सूची को फोटोयुक्त, पद क्रम सूची के अनुसार तैयार किया जाए। इसके साथ ही बाहरी को मतदाता सूची से बाहर किया जाए।

इस मामले में मंत्रालय के सुभाषचंद्र बोस पैनल के सुभाष वर्मा का कहना है कि चुनाव में धांधली की जा रही है। जिस पर लिखित आपत्ति दर्ज कराई गई है। साथ ही उन्होंने कहा कि अध्यक्ष सुधीर नायक हमारी आपत्तियों को सुनने को तैयार नहीं थे जिसके बाद कर्मचारी नाराज हुए और हंगामा किया गया।

मामले की गंभीरता को देखते हुए निर्वाचन अधिकारी ने चुनाव को स्थगित कर दिया है। चुनाव स्थगित का कारण संक्रमण को बताया गया है। इस मामले में निर्वाचन अधिकारी संतोष ठाकुर का कहना है कि सुभाष वर्मा अन्य कर्मचारियों द्वारा आपत्ति दर्ज कराए जाने के बाद अब मतदाता सूची में दोबारा सुधार किया जाएगा। साथ ही संक्रमण समेत सभी आपत्तियों को ध्यान में रखते हुए चुनाव को स्थगित किया गया है।