मप्र निकाय चुनाव 2022: 6 जुलाई को पहले चरण की वोटिंग, 27000 पुलिसकर्मी तैनात, उम्मीदवारों के लिए ये निर्देश जारी

प्रथम चरण में 44 जिलों में 11 नगर निगम, 36 नगरपालिका परिषद और 86 नगर परिषद में मतदान होगा। इसके लिए कुल 13 हजार 148 मतदान केन्द्र बनाये गए हैं।

mp nagriya nikay chunaav 2022

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। बुधवार 6 जुलाई से मध्य प्रदेश में नगरीय निकाय चुनावों (MP Urban Body Election 2022) की वोटिंग का सिलसिला शुरू होने जा रहा है। पहले चरण में 44 जिलों के 133 नगरीय निकायों में सुबह 7 से शाम 5 बजे तक वोटिंग होगी। राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने बताया है कि नगरीय निकाय निर्वाचन-2022 में प्रथम चरण का मतदान 6 जुलाई को सुबह 7 से शाम 5 बजे तक होगा। शांतिपूर्ण मतदान के लिए सभी तैयारियाँ पूरी कर ली गयी हैं। मतदाता निर्भय होकर अपने मताधिकार का प्रयोग करें।मतदान दल निर्धारित मतदान केन्द्रों में पहुँच चुके हैं।

यह भी पढ़े..SSC 2022: स्थगित हुई ये भर्ती परीक्षा, 8 जुलाई को जारी होगा नया नोटिफिकेशन, इन पदों पर होनी है भर्ती

प्रथम चरण में 44 जिलों में 11 नगर निगम, 36 नगरपालिका परिषद और 86 नगर परिषद में मतदान होगा। इसके लिए कुल 13 हजार 148 मतदान केन्द्र बनाये गए हैं। इनमें से 3296 मतदान केन्द्र संवेदनशील हैं। मतदान दलों में लगभग 79 हजार कर्मचारी-अधिकारियों की ड्यूटी लगायी गयी है। लगभग 27000 पुलिस बल डिप्लॉय किया गया है।प्रथम चरण में 11 नगरपालिक निगम में महापौर पद के 101 अभ्यर्थी चुनाव मैदान में हैं। कुल 133 नगरीय निकाय में 2850 पार्षद के पद हैं। इनमें से 42 पद पर निर्विरोध निर्वाचन हो चुका है। शेष 2808 पद पर निर्वाचन होना है। इसके लिए 11250 अभ्यर्थी चुनाव लड़ रहे है।

इन जिलों में मतदान नहीं

प्रथम चरण में बड़वानी, झाबुआ, खरगोन, सीधी और शहडोल जिलों के किसी भी नगरीय निकाय में मतदान नहीं है। मंडला, अलीराजपुर और डिंडोरी जिले के नगरीय निकायों का कार्यकाल अभी पूरा नहीं हुआ है। अतः इन जिलों के नगरीय निकायों के लिए निर्वाचन की घोषणा नहीं की गई है।वही राज्य शासन द्वारा 6 जुलाई को जिन नगरीय निकायों में चुनाव है, वहाँ पर सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है।

1 करोड़ से अधिक मतदाता डालेंगे वोट

प्रथम चरण में एक करोड़ 4 लाख 41 हजार 897 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। इनमें से 53 लाख 62 हजार 457 पुरूष और 50 लाख 78 हजार 635 महिला तथा 805 अन्य मतदाता हैं। नगरपालिक निगम ग्वालियर में 10 लाख 68 हजार 267 मतदाता, सागर में 2 लाख 22 हजार 584, सतना में 2 लाख 14 हजार 188, सिंगरौली में 2 लाख 5 हजार 886, जबलपुर में 9 लाख 76 हजार 61, छिंदवाड़ा में एक लाख 90 हजार 742, भोपाल में 17 लाख 6 हजार 735, खंडवा में एक लाख 75 हजार 644, बुरहानपुर में एक लाख 77 हजार 666, इंदौर में 18 लाख 35 हजार 955 और उज्जैन में 4 लाख 61 हजार 169 मतदाता हैं। इस तरह से सर्वाधिक मतदाता इंदौर और सबसे कम मतदाता खंडवा नगरपालिका निगम में हैं।

उम्मीदवारों के लिए ये निर्देश जारी

  • अभ्यर्थियों को मतदान केन्द्र से 100 मीटर से अधिक दूरी पर मतदाता सहायता बूथ बनाने की अनुमति रहेगी।
  • इसमें एक टेबल, दो कुर्सी एवं एक बैनर (2 फुट x 3 फुट तक का) रखने की अनुमति होगी।
  • एक ही स्थान में एक से अधिक मतदान केन्द्र की स्थापना होने पर भी एक ही मतदाता सहायता बूथ बनाये जाने की अनुमति अभ्‍यर्थी को होगी।
  • इन नियमों का पालन न किए जाने पर ऐसे बूथ को हटाने का अधिकार सेक्टर अधिकारी, सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं पुलिस अधिकारियों को होगा।
  • स्थानीय निकायों की अनुमति आवश्यक होगी। इन बूथों की जानकारी पुलिस को भी दी जाना अनिवार्य होगा।