नरोत्तम मिश्रा बोले- मसूद को ज्यादा गुस्सा है तो फ्रांस चले जाए, दिग्विजय सिंह पर साधा निशाना

नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Dr. Narottam Mishra) ने कहा कि दिग्विजय सिंह प्रतीक्षा करें 10 तारीख की। उन्होंने कहा कि यह लोकतंत्र है। यहां जनता मत तय करती है। दिग्विजय सिंह नहीं कर सकते। 

नरोत्तम मिश्रा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) के सख्त रुख के बाद विधायक आरिफ मसूद (MLA Arif Masjid) समेत सात लोगों पर राष्ट्र विरोधी भाषण देकर वैमनस्यता फैलाने का पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। वह बीते शुक्रवार को आरिफ मसूद समेत 2000 लोगों द्वारा फ्रांस के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों के खिलाफ धाराएं भी बढ़ा दी है। धार्मिक संस्कृति समिति ने महामंत्री दीपक रघुवंशी की शिकायत पर मामला दर्ज किया है।

ज्यादा गुस्सा है तो फ्रांस चले जाए

विधायक आरिफ मसूद के द्वारा किए गए प्रदर्शन को लेकर प्रदेश के गृहमंत्री डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Dr. Narottam Mishra) ने कहा कि यह समझ नहीं आता कि फ्रांस (France) की घटना थी और आरिफ मसूद ने यहां भोपाल (Bhopal) में प्रदर्शन क्यों किया। उन्होंने कहा कि अगर आरिफ मसूद को ज्यादा गुस्सा था तो वो फ्रांस चले जाते। उन्होंने कहा कि यहां तो पांच बार की नमाज (Namaz) पढ़ी जाती है, मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में तो कहीं कोई दिक्कत नहीं थी। गृह मंत्री ने कहा कि कांग्रेस जबरदस्ती सांप्रदायिकता फैलाने की क्यों कोशिश की जा रही है।

खामोश क्यों है कमल नाथ

वहीं गृहमंत्री ने इसको लेकर पीसीसी चीफ कमलनाथ (PCC Chief Kamal Nath) पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि आरिफ मसूद द्वारा किए इस प्रदर्शन पर कमलनाथ ने क्या एक्शन लिया है। उन्होंने कहा कि इस पर कमल नाथ क्यों खामोश रहे। मंत्री मिश्रा ने कमल नाथ से सवाल करते हुए कहा कि क्या वह जायज था और अगर जायज था तो कमल नाथ उसे बताएं। उन्होंने कहा कि फ्रांस की घटना का मध्य प्रदेश और देश से क्या लेना देना था। गृह मंत्री ने कहा कि जब मकबूल फिदा हुसैन ने हमारे देवी देवताओं के चित्र बनाएं थे तब तो वह देश में थे, तब भी आरिफ मसूद कुछ ऐसा कह देते तो समझ में आता। नरोत्तम मिश्रा ने भोपाल जेल ब्रेक का जिक्र करते हुए कहा कि, इसी तरह से आरिफ मसूद एक बार सीमी के लिए धरने पर बैठ गए थे। उन्होंने ने कहा कि इस तरह का कृत्य मेरे हिसाब से ही ठीक नहीं है।

यह है मामला

फ्रांस में पैगंबर के कार्टून को लेकर उठे विवाद के बाद विधायक आरिफ मसूद ने भोपाल में बीते शुक्रवार को प्रदर्शन किया था। इसे लेकर विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर ने कहा था कि फ्रांस के मामले में यहां प्रदर्शन का क्या औचित्य है। जिसे प्रदर्शन करना है वह फ्रांस चला जाए। इससे लेकर जावेद अख्तर नाम के शख्स ने शर्मा की फेसबुक अकाउंट पर उन्हें जान से मारने की धमकी दे दी थी।

Read this: अनूपपुर: पुत्र ने पिता के शव को बोरी में बांधकर फेंका, लिखाई गुमशुदगी की रिपोर्ट, ये है मामला

मासूम प्रहलाद को बचाने की कोशिश जारी

नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि सारा देश बच्चे के लिए दुआएं कर रहा है बच्चा जो है लगभग 49 फीट गहराई पर है। प्रशासन ने अभी तक 45 फुट की खुदाई कर दी है। रात भर पूरा प्रशासन वहां पर रहा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान स्वयं इसकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि ऑक्सीजन के पर्याप्त मात्रा में सिलेंडर वहां पहुंचा दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि ईश्वर से प्रार्थना है कि बच्चा सकुशल स्वस्थ बाहर आ जाए।

दिग्विजय सिंह 10 तारीख की प्रतीक्षा करें 

हम विकास की बात करते हैं। वह लोग सोचे जो सलमान और जैकलिन के लिए खर्च कर देते हैं। हमारा पैसा तो विकास पर खर्च होता है। साख किसकी गिरी है 4 दिन बाद पता चल जाएगा। नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Dr. Narottam Mishra) ने कहा कि दिग्विजय सिंह प्रतीक्षा करें 10 तारीख की। उन्होंने कहा कि यह लोकतंत्र है। यहां जनता मत तय करती है। दिग्विजय सिंह नहीं कर सकते।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here