पुलिस अधिकारियों के साथ नरोत्तम मिश्रा की बैठक, दिए कड़े निर्देश, आला अधिकारी रहे मौजूद

गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने प्रदेश के कई अस्पतालों में चिकित्सकों के साथ अभद्रता के के मामलों पर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने बैठक में उन अस्पतालों में फोर्स को तैनात करने के लिए आवश्यक प्रबंध करने के निर्देश दिए।

नरोत्तम मिश्रा
Dr.Narottam Mishra

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। प्रदेश में कोरोना (corona) की स्थिति के बीच गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा लगातार बैठक कर रहे हैं। कोरोना समीक्षा बैठक के बाद आज गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा (narottam mishra)ने रविवार को दोपहर पूर्व पुलिस मुख्यालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कोरोना महामारी से निपटने के लिए प्रबंधों को पुख्ता करने के लिए इंतजामों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने ऑक्सीजन (oxygen) और रेमेडीसिवर इंजेक्शन (Remedisiver Injection) की कालाबाजारी को रोकने के लिए टास्क फोर्स (task force) बनाने के निर्देश दिए। बैठक में पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी एवं अन्य आला अधिकारी मौजूद रहे।

नरोत्तम मिश्रा ने पुलिस मुख्यालय में कोरोना आपदा में ड्यूटी कर रहे जवानों की चिंता करते हुए आवश्यक प्रबंध करने के निर्देश दिए । बैठक में बताया गया कि वर्तमान में सशस्त्र बल (SAF), होमगार्ड गार्ड और पुलिस के प्रदेश भर में 1850 लोग कोरोना संक्रमित है। कोरोना से 72 SAF, होम गार्ड, पुलिसकर्मी ड्यूटी करते हुए काल-कवलित हुए है। जेल विभाग में भी कुछ लोगों की कोरोना से मृत्यु से अवगत कराया गया।

Read More: कोरोना पर नरोत्तम मिश्रा का बयान- पीएम मोदी ने तैयार की कार्य योजना, दिया जा रहा मूर्त रूप

बैठक में बताया गया कि प्रदेशभर में रेमडेसीवीर इंजेक्शन की ब्लैकमेलिंग करने वालों के खिलाफ अभीतक 11 प्रकरण दर्ज हुए है। इंदौर और भोपाल में कालाबाजारी करने वालों के विरुद्ध रासुका की कार्रवाई की जा रही है। मंत्री डॉ. मिश्रा ने अन्य स्थानों पर भी इसी प्रकार से रासुका के तहत कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

अस्पतालों में फोर्स का इंतजाम करें

गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने प्रदेश के कई अस्पतालों में चिकित्सकों के साथ अभद्रता के के मामलों पर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने बैठक में उन अस्पतालों में फोर्स को तैनात करने के लिए आवश्यक प्रबंध करने के निर्देश दिए। नरोत्तम मिश्रा ने लोगों से अपील है कि डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ के साथ किसी भी तरीके की अभद्रता न करें, प्रशासन को सहयोग करें।