नरोत्तम का कटाक्ष- ‘देश में दो लोग व्हीलचेयर पर, एक हार के डर से एक मार के डर से

व्हीलचेयर
व्हीलचेयर

डेस्क रिपोर्ट– मध्य प्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने व्हील चेयर पर बैठे लोगों को लेकर तंज कसा है। उनका कहना है कि देश में इस समय दो नेता व्हील चेयर पर बैठे नजर आ रहे हैं। इनमें एक चुनाव में संभावित हार के डर से बैठा है तो दूसरा पुलिस की मार के डर से। नरोत्तम का कटाक्ष ममता बनर्जी और मुख्तार अंसारी पर है।

एमपी में यहां लगा 7 दिन का टोटल लॉकडाउन, बढ़ते आंकड़ों के बाद सीएम ने लिया फैसला

पश्चिम बंगाल के पांडेश्वर में चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे नरोत्तम मिश्रा ने तृणमूल कांग्रेस को बड़ा झटका दिया। यहां पर तृणमूल कांग्रेस के समर्थक 5 पंचायत प्रमुखों ने पार्टी छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया। उनके साथ सैकड़ों की संख्या में तृणमूल कांग्रेस को छोड़कर बीजेपी की सदस्यता लोगो ने ग्रहण की। इस विधानसभा क्षेत्र से जितेंद्र तिवारी बीजेपी के प्रत्याशी हैं ।इस अवसर पर नरोत्तम ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस में भगदड़ मची हुई है और अब गांव तक इसकी बयार पहुंचने का मतलब है कि पार्टी में हड़कंप है। उन्होंने देश के दो बड़े नेताओं को व्हील चेयर पर बैठने का मतलब बताया कि इनमें से एक ममता बनर्जी विधानसभा चुनाव में हार के डर से व्हीलचेयर पर हैं और दूसरे मुख्तार अंसारी पुलिस की मार के डर से व्हीलचेयर पर हैं।

रेमडेसीवर इंजेक्शन की आपूर्ति को लेकर शिवराज गंभीर, अधिकारियों को दिए निर्देश

नरोत्तम मिश्रा ने तंज कसते हुए कहा इस देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सब सुनते हैं, राहुल गांधी अपनी मां की नहीं सुनते, अखिलेश यादव अपने पिताजी की नहीं सुनते, केजरीवाल किसी की नहीं सुनते और अब व्हील चेयर पर बैठी ममता बनर्जी हैं जिनकी कोई नहीं सुन रहा ।आज यह स्थिति पश्चिम बंगाल की हो गई है।

इंदौर में कोरोना से बिगड़े हालात, रेमडेसिविर और ऑक्सीजन की हुई कमी, सड़कों पर उतरे लोग, प्रशासन परेशान

पश्चिम बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमले को लेकर नरोत्तम ने रामचरित मानस की की चौपाई का उदाहरण देते हुए कहा कि व्हील चेयर पर बैठी ममता बनर्जी की मती प्रभु ने हर ली है और वह जितने हमले कराऐगी, बीजेपी कार्यकर्ताओं में उतना ही संघर्ष का माद्दा पैदा होगा। पूरा पश्चिम बंगाल भ्रष्टाचार में आकंठ डूबा हुआ है और अब जनता खुद कह रही है कि तख्त बदल दो, ताज बदल दो, भ्रष्टो का राज बदल दो। पश्चिम बंगाल में यशवंत सिन्हा, तेजस्वी यादव और जया भादुङी द्वारा तृणमूल कांग्रेस के पक्ष में प्रचार करने जाने को उन्होंने कहा कि यह सब अब केवल फुके बल्बोकी झालर हैं और इनका कोई उपयोग पश्चिम बंगाल में नहीं होना और यह सब वह लोग हैं जो अपने अपने क्षेत्रों में चुनाव हार चुके हैं और यहां बीजेपी को हराने का सपना लेकर आए हैं।
ममता 10 मार्च को नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद प्रचार करने के दौरान नंदीग्राम में चोटिल हो गई थीं। उनके बाएं पैर, सिर और छाती में चोट लगी थी। तृणमूल कांग्रेस ने दावा किया था कि यह उनकी जान लेने का बीजेपी का षड्यंत्र था। हालांकि, चुनाव आयोग ने इससे इनकार किया है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस नेता पर कोई हमला हुआ था। चुनाव आयोग ने यह बात आयोग के दो विशेष चुनाव पर्यवेक्षकों और राज्य सरकार द्वारा भेजी गई रिपोर्टों की समीक्षा के बाद कही थी ।आयोग ने कहा था कि बनर्जी को चोट उनके सुरक्षा प्रभारी की चूक के कारण लगी थी।उसके बाद से ही ममता बनर्जी व्हीलचेयर पर है

लॉकडाउन को लेकर सीएम शिवराज ने लिया बड़ा निर्णय

मुख्तार अंसारी भी कल तक व्हील चेयर पर था लेकिन उत्तर प्रदेश आते ही बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी लगता है तबीयत सही हो गई है।रोपड़ जेल से मोहाली कोर्ट तक व्हील चेयर पर बैठकर जाने वाला मुख्तार अंसारी जैसे ही बांदा जेल पंहुचा वो बैरक के अंदर खुद चल कर गया। कल तक व्हील चेयर और बीमारी की बात करने वाला मुख्तार अंसारी आज सुबह चलकर बैरक में गया।