केंद्रीय मंत्री तोमर के फ्री हैंड देने के निवेदन पर CM ने कुछ ऐसे दिया जवाब, देखें वीडियो

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। रविवार को ग्वालियर के दौरे पर आये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया। उन्होंने ग्वालियर के विकास के रोडमैप पर बात की। उनके साथ केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) सहित प्रदेश सरकार के कई मंत्री भी मौजूद थे। उन्होंने ग्वालियर और ग्वालियर व्यापार मेले को लेकर अपनी पुरानी यादों को साझा किया। इस दौरान उन्होंने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) के एक निवेदन पर ऐसा जवाब दिया कि मंच पर ठहाके लग गए।

ग्वालियर व्यापार मेले के औपचारिक उद्घाटन के लिए ग्वालियर पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan)ने मंच से 15 फरवरी से मेले के शुभारंभ की घोषणा की साथ ही वाहनों की बिक्री पर रजिस्ट्रेशन में मिलने वाली छूट की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि जितनी छूट मांगी है यानि 50 प्रतिशत रजिस्ट्रेशन शुल्क में मेला अवधि में छूट मिलेगी मगर शर्त ये है कि वाहन ग्वालियर से ही खरीदा जायेगा।

मुख्यमंत्री जब बोलने खड़े हुए उससे पहले केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने मंच संभाला। उन्होंने ग्वालियर व्यापार मेले के ऐतिहासिक और व्यापारिक पहलू पर बात की। उन्होंने कहा कि जब भी कहीं मेलों की कल्पना की जाती है ग्वालियर मेले का नाम सबसे पहले आता है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के प्रगति मैदान से बहुत पहले ग्वालियर व्यापार मेला पक्की दुकानों वाला स्थाई मेला हुआ करता है। लेकिन हम साल भी इसका भरपूर उपयोग नहीं कर पाते। यदि कुछ ऐसे प्रयास किये जाएं कि यहाँ साल भर आयोजन होते रहे तो व्यापारियों को भी लाभ होगा और शहरवासियों को भी लाभ होगा। केंद्रीय मंत्री ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) को संबोधित करते हुए कहा कि कुछ दिन पहले मेरी ओम प्रकाश सकलेचा जी से बात हुई थी। आपने उन्हें बहुत अच्छा मंत्रालय दिया है। वे आपके मंत्रिमंडल के बहुत ही कल्पज्ञ मंत्री हैं। व्यापार को बहुत अच्छे से समझते हैं। मेरी उनसे कई विषयों पर बात हुई है मुझे लगता है बाकी बहुत सारा काम आपने उन्हें उन्हें दिया हुआ है। यदि ये टास्क आप ओम प्रकाश जी को दे दें और उन्हें फ्री हैंड दे दें तो मैं समझता हूँ कि 8 महीने तक ग्वालियर मेले का आयोजन होता रहेगा।

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) के बोलने के बाद अब बारी थी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan)की। जब वे बोलने के लिए खड़े हुए तो उन्होंने मेले में देरी का विषय उठाते हुए अन्य बातों के साथ कहा कि अभी तोमर जी कह रहे थे कि फ्री हैंड दे देना। नरेंद्र सिंह जी हम कमलनाथ थोड़ी हैं जो अपने मंत्रियों को फ्री हैंड नहीं देंगे। पूछो आप सबसे, इधर ही बैठे हैं। ओम जी काहे की चिंता सब अच्छा करो क्या दिक्कत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे सारे मंत्री पूरी ताकत और विवेक का इस्तेमाल करते हुए लगातार काम कर रहे हैं क्यों प्रद्युम्न जी ठीक है कि नहीं। इस मेले के स्वरूप को भव्यता प्रदान करने के लिए नया नहीं कर पाए तो क्या फायदा।

कुल मिलाकर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan)के बीच जो वार्तालाप हुआ उससे ये स्पष्ट होता है कि मुख्यमंत्री ने संकेतों में निर्देश दिये हैं कि आत्म निर्भर भारत, आत्म निर्भर मध्यप्रदेश, आत्म निर्भर ग्वालियर की तर्ज पर आत्म निर्भर ग्वालियर व्यापार मेला की कोई कार्ययोजना बनाई जाए।