Panna News: नगर पंचायत में फर्जी नियुक्ति का मामला, कलेक्टर ने कही जांच की बात

जब इस पूरे मामले को लेकर पन्ना कलेक्टर संजय मिश्र से बात की गई तो उन्होंने दोषियों पर कड़ी कार्यवाही करने की बात कही। 

panna news

पन्ना, भारत सिंह यादव। आज जहां शिक्षित बेरोजगार बड़ी बड़ी डिग्रियां लिए सरकारी नौकरी पाने की तलाश में दर दर भटक रहे है तो कई शिक्षित डिग्रीधारी युवा बेरोजगार नौकरी की आस छोड़ मजदूरी कर अपनी जिंदगी बसर कर रहे है। वहीं सिस्टम में बैठे भ्रष्ट अधिकारियों के कारण अपात्र लोग शासन की आंखो मे धूल झोक कर साहब की मेहरबानी से फर्जी नौकरी कर आसीम पद पाकर सालों से मलाई छान रहे हैं। ऐसा ही फर्जी नौकरी करने का मामला नगर पंचायत अजयगढ़ का है।

जहां वर्ष 2004 में बृजेंद्र तिवारी ने सीधी भर्ती के आड में अनसूचित जन जाति के पद पर झोल झाल कर नगर पंचायत में प्रभारी रहे तहसीलदार बीबी पांडे के रहमोकरम से राजस्व निरीक्षक पद पर फर्जी तरीके से नियुक्ति करा ली गई। जबकि यह पद अनसूचित जाति के लिए आरक्षित था। बृजेंद्र तिवारी नौकरी मे फर्जीवाड़ा कर 21 साल से अजयगढ़ नगर पंचायत में मलाई छान रहा है। इतना ही नहीं इस फर्जीवाडे से हुई भर्ती के सम्बन्ध में मध्यप्रदेश अनुसूची जाति-जनजाति अधिकारी कर्मचारी संघ ने भी सीधी भर्ती रोस्टर पंजी मे नोट लिखा था कि बिंदु क्रमांक 7 श्री बृजेंद्र कुमार तिवारी की नियुक्ति सहायक राजस्व निरीक्षक पद पर दिनांक 19/10/2004 को की गई है जो त्रुटि पूर्ण है।

यह पद अनु.जा.जा.की बिंदु क्रमांक 2 पर भरा जाना था। अत:इस संबंध आवश्यक कार्यवाही कर संघ को अवगत कराये। लेकिन सिस्टम मे बैठे रसूखदार भ्रष्ट अधिकारियों ने मामले को दबाकर ठंडे बस्ते में रख दिया। जब इस मामले की शिकायत कुछ लोगो द्वारा जिम्मेदारों से शिकायत की गई। तब 06/09/2018 परियोजना अधिकारी जिला शहरी विकाश अभिकरण जिला पन्ना द्वारा मुख्य नगर पालिका अधिकारी नगर परिषद अजयगढ़ को पत्र जारी किया गया।

Read More: Dewas Corona Update: BJP विधायक भी हुए कोरोना संक्रमित, 137 पहुंचा आंकड़ा

जिसका पत्र क्रमांक 532/13/07/2018 उक्त पत्र के माध्यम से बिंदुवार समस्त अभिलेख 02 दिवस के अंदर मांगे गए थे। जो दिनांक 06/09/2018 तक अभिलेख नहीं भेजे गए थे। फिर पुन: दोबारा दिनांक 06/09/2018 को पत्र 680 जारी किया गया था लेकिन भ्रष्टाचारियों के झमेले में फंसकर कार्यवाही सिर्फ पत्र तक सीमित रह गई। अगर कोई व्यक्ति मामले को उजागर करने की कोशिश भी करता है। उसको भी घेरने की कोशिश की जाती है।

फर्जी भर्ती करने वाले इस अधिकारी की शिकायत पूर्व में कई बार हो चुकी है लेकिन अपने आपको बचाने में सफल हो जाता है। वहीँ जब अनादि टीवी की टीम ने इस मामले की जब खोजबीन की तो तब फर्जी नोकरी का खुलासा हुआ लेकिन सिस्टम में बैठे भ्रष्ट अधिकारी अपने आपको बचाने की कवायद लगे हुए है। जब इस पूरे मामले को लेकर पन्ना कलेक्टर संजय मिश्र से बात की गई तो उन्होंने दोषियों पर कड़ी कार्यवाही करने की बात कही।

panna news panna news panna news