कोरोना टीकाकरण से पहले राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह का बड़ा बयान

वहीं दिग्विजय सिंह ने भी वैक्सीन की विश्वसनीयता पर संदेह जताया था।

दिग्विजय सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। देशभर में आज से कोरोना वैक्सीन (corona vaccine) के टीकाकरण (vaccination) की शुरुआत की जा रही है। इससे पहले राज्यसभा सांसद और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay singh)  का बड़ा बयान सामने आया है। प्रदेश में अब राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने कोरोना वैक्सीन के लिए वॉलिंटियर बनने की इच्छा जाहिर की है। इसके साथ ही साथ उन्होंने भारत सरकार से वैक्सीन को लेकर महत्वपूर्ण सवाल भी पूछे हैं।

दिग्विजय सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा है कि भारत सरकार कोवैक्सीन (Covaxin) और सिरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड (Coveshield) को आपात स्थिति की मंजूरी दी है। दिग्विजय सिंह ने भारत सरकार से सवाल करते हुए कहा है कि अगर भारत सरकार आपात स्थिति पर अपना मत स्पष्ट करें तो उन्हें खुशी होगी।

Read More: MP: कोरोना से प्रत्यक्ष जंग, आज से लगेगा मंगल टीका, कुछ देर में शुरू होगी टीकाकरण की प्रक्रिया

इसके साथ ही साथ राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने यह भी सवाल किया है कि क्या वह इन दोनों वैक्सीन के लिए स्वयं सेवक बन सकते हैं। इतना ही नहीं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पूछा है कि उनके पास वैक्सीन इस्तमाल के लिए आपात जैसी कोई स्थिति नहीं है। बावजूद इसके कोरोना वैक्सीन डोज के लिए अगर वह वॉलिंटियर (Volunteer) बनते हैं तो उन्हें खुशी होगी।

बता दें कि भारत सरकार ने भारत बायोटेक की को वैक्सीन और सिरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड को आवाज इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। जिसके बाद विपक्षी नेताओं ने एक्शन पर सवाल खड़े किए थे। समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने विवादित बयान देते हुए कहा था कि बीजेपी की राजनीति वैक्सीन नहीं लगाएंगे क्योंकि उन्हें चिकित्सा व्यवस्था पर भरोसा नहीं है। इसके साथ ही कांग्रेस के दिग्गज नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने भी कहा था कि को-वैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल भी पूरा नहीं किया गया है। जिसके बाद इसके इस्तेमाल की अनुमति देना खतरनाक साबित हो सकता है। वहीं दिग्विजय सिंह ने भी वैक्सीन की विश्वसनीयता पर संदेह जताया था। अब एक बार फिर उन्होंने भारत सरकार से व्यक्ति को लेकर सवाल किए और स्पष्टता के बाद वॉलिंटियर बनने की इच्छा जाहिर की है।