Unlock 5.0: 15 अक्टूबर से स्कूल खोलने पर लिया गया यह बड़ा निर्णय

मध्य प्रदेश(Madhya pradesh) में 15 अक्टूबर सरकारी व निजी स्कूलों में नौवीं से 12वीं तक की कक्षा को संचालित किया जाएगा।

अक्टूबर

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सरकार ने अनलॉक 5(Unlock 5) की प्रक्रिया के तहत सभी राज्य में 15 अक्टूबर से स्कूल(School)-कॉलेज खोलने का आदेश दे दिया है। जिसके बाद से कई राज्यों में 15 अक्टूबर से स्कूल कॉलेज चरणबद्ध तरीके से खोले जा रहे हैं। वहीं केंद्र सरकार (central government)ने स्कूल खोलने के निर्णय लेने का अधिकार भी राज्यों पर छोड़ा है। जिसके बाद मध्य प्रदेश(Madhya pradesh) में 15 अक्टूबर सरकारी व निजी स्कूलों में नौवीं से 12वीं तक की कक्षा को संचालित किया जाएगा। हालांकि कक्षाएं सिर्फ 2 घंटे की अवधि तक ही रहेंगे। जिसमें छात्रों का मार्गदर्शन सत्र चलाया जाएगा।

दरअसल केंद्र की गाइडलाइन(Guideline) के बाद नौवीं से बारहवीं तक के छात्रों के लिए 2 घंटे की अवधि के लिए स्कूल-कॉलेजों में मार्गदर्शन सत्र चलाया जाएगा। जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना की माने तो जब तक लॉकडाउन 5 को लेकर राज्य शासन की तरफ से स्पष्ट निर्देश नहीं मिल जाते हैं। स्कूलों में 2 घंटे की अवधि का मार्गदर्शन चलता रहेगा। इसके साथ ही केंद्रीय व राज्य सरकार द्वारा जारी एसओपी(SOP) का भी पालन किया जा रहा है।

दूसरी तरफ एसोसिएशन ऑफ अनएडेड प्राइवेट स्कूल के उपाध्यक्ष विनीराज मोदी का कहना है कि अभी तक राज्य शासन की तरफ से कोई निर्देश नहीं मिले हैं। जिसको देखते हुए स्कूलों की अभी समय सीमा 2 घंटे रखी गई है। अधिकारियों का कहना है कि प्रदेश में कोरोना(corona) भी अपनी पिक पर है। ऐसी स्थिति में 15 अक्टूबर से बच्चों को स्कूल बुलाया जाना खतरे की घंटी को बढ़ावा देना है।

ये भी पढ़े: एमपी स्कूल ओपन: पहली से आठवीं तक के स्कूलों को खोलने पर दीपावली के बाद होगा निर्णय

बता दें कि अभी हफ्ते में दो तीन बार विद्यार्थियों को परामर्श देने के लिए एवं मार्गदर्शन सत्र चलाया जा रहा है। छात्र अपनी विषय पर समस्या लेकर स्कूल पहुंच रहे हैं और अभिभावकों की लिखित सहमति के बाद ही छात्रों को स्कूल में प्रवेश दिया जा रहा है।

वहीं इससे पहले सोशल मीडिया पर एक हुए तेजी से वायरल हो रहा था। जिसमें यह दावा किया जा रहा था कि केंद्र सरकार ने 15 अक्टूबर से स्कूल कॉलेज खोलने का फैसला वापस ले लिया है। हालाकि ये दावा फर्जी निकला है यानी कि सरकार ने इस फैसले को वापस नहीं लिया है। शिक्षा मंत्रालय ने हाल ही में स्कूलों को खोलने से संबंधित दिशा-निर्देश भी जारी किए हैं।

ये भी पढ़े: इन निर्देशों के साथ 15 अक्टूबर से खुल सकते हैं स्कूल, SOP जारी

वहीं केंद्र सरकार ने अनलॉक 5 की गाइडलाइन जारी करते हुए कहा था कि राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश यह तय करेंगे कि 15 अक्टूबर के बाद स्कूल कॉलेज को खोलना चाहिए या नहीं। जिसके बाद दिल्ली सरकार ने 31 अक्टूबर तक स्कूलों को बंद रखने का निर्णय लिया था। कुछ स्कूलों को स्वैच्छिक आधार पर खोला गया था ताकि दिशा निर्देशों का पालन भी किया जा सके। पंजाब में 15 अक्टूबर से स्कूल खोले जाएंगे। वही उत्तराखंड सरकार ने भी 15 अक्टूबर से स्कूल खोलने का निर्णय लिया है।

मुख्य गाइडलाइंस

*छात्र-छात्राएं और स्टाफ मास्क लगाकर ही स्कूल आएंगे और पूरे समय इसे पहने रहेंगे।
*स्कूल परिसर में कैंटीन, वाशरूम, लैब, लाइब्रेरी स्थानों पर साफ-सफाई की व्यवस्था करनी होगी।
*कक्षाओं में बैठने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।
*स्कूलों में मिड-डे मील परोसे जाते समय सावधानी रखनी होगी।
*स्कूल खुलने के तीन सप्ताह तक एसेसमेंट टेस्ट नहीं लेना होगा।

वहीं देश के अन्य हिस्से जैसे आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल, महाराष्‍ट्र, छत्तीसगढ़ जैसे राज्‍यों में स्‍कूल को अभी बंद ही रखने कर निर्णय राज्य सरकार ने लिया गया है। वहीं उत्तर प्रदेश, हरियाणा, उत्‍तराखंड और मेघालय सहित कई राज्‍यों ने 15 अक्‍टूबर से स्‍कूल खोलने का फैसला लिया है। हालाकि इसपर अभी कोई स्पष्ट निर्णय नहीं हुआ है। स्कूल का खुलना बोर्ड विद्यार्थियों के मार्गदर्शन सत्र पर देखा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here