सिंधिया की सुरक्षा में चूक, आखिर 12 घंटे बाद जागी पुलिस

NSUI के राष्ट्रीय सचिव सचिन द्विवेदी ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से कहा कि हमने गाँधीवादी तरीके से अपना विरोध  जताया है अब प्रशासन को जो करना है वो करे हम तो जेल जाने के लिए भी तैयार हैं।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को बेशर्म के फूल और बेशर्म की माला देने वाले NSUI नेताओं के खिलाफ ग्वालियर पुलिस ने आखिर 12 घंटे बाद मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने NUSI के राष्ट्रीय संयोजक सचिन द्विवेदी सहित करीब 10 NSUI नेताओं को लॉक डाउन उल्लंघन का दोषी मानते हुए आपदा प्रबंधन की धाराओं सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है।

दरअसल NSUI के राष्ट्रीय संयोजक सचिन द्विवेदी के नेतृत्व में NSUI नेताओं ने कल शनिवार को गोला का मंदिर चौराहे पर सिंधिया की गाड़ी को रोककर बेशर्म के फूल और बेशर्म के फूलों की माला भेंट की थी।  कार्यकर्ताओं ने माला पहनाने का भी प्रयास किया था जिसमें वे सफल नहीं हो पाए थे। NSUI के नेताओं की नाराजगी इस बात को लेकर थी कि जब कोरोना से लोग परेशान थे तब सिंधिया जी ग्वालियर या मध्यप्रदेश में क्यों नहीं दिखे अब राजनीति करने और लोगों के जख्मों को कुरेदने आये हैं।  NSUI ने इसे बेशर्मी कहते हुए सिंधिया को बेशर्म के फूल, बेशर्म के फूलों की माला और बेशर्मी लिखा एक ज्ञापन भेंट किया था।

 ये भी पढ़ें – दिग्विजय के बयान पर घर में रार, भाई ने किया समर्थन तो बहू ने किया वार

गौरतलब है कि राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया वीवीआईपी हैं , कल शनिवार को जब सिंधिया मध्यप्रदेश का चार दिवसीय दौरा ख़त्म कर दिल्ली जाने के लिए ग्वालियर एयरपोर्ट के लिए जा रहे थे तभी गोला का मंदिर चौराहे पर उनकी सुरक्षा में बड़ी चूक सामने आई। NSUI के करीब एक दर्जन नेताओं ने सिंधिया के वाहन को रोक लिया और उन्हें बेशर्म के फूल और बेशर्म के फूलों की माला भेंट की।  ये स्थिति तब बनी जब सिंधिया के साथ हमेशा सिक्योरिटी मौजूद रहती है सिंधिया को केंद्र सरकार से Y श्रेणी की सुरक्षा है जबकि मध्यप्रदेश में सिंधिया को Z श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गई है।

ये भी पढ़ें – Scindia की सोशल इंजीनियरिंग, यह रिश्ता क्या कहलाता है!

सिंधिया जैसे वीवीआईपी की सुरक्षा में बड़ी चूक की खबर एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ ने प्रमुखता से अपने पाठकों तक पहुंचाई।  खबर के बाद पुलिस अधीक्षक अमित सांघी एक्शन में आये और फिर उनके निर्देश पर गोला का मंदिर थाने में NUSI नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।  टीआई गोला का मंदिर विनय शर्मा ने बताया कि घटनाक्रम सामने आने के  बाद NSUI के राष्ट्रीय संयोजक सचिन द्विवेदी, सचिन भदौरिया और यतेंद्र दोहरे सहित 6-7 अन्य नेताओं को  लॉकडाउन के उल्लंघन का दोषी पाते हुए आपदा प्रबंधन की धाराओं व अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है।  उधर NSUI के राष्ट्रीय सचिव सचिन द्विवेदी ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से कहा कि हमने गाँधीवादी तरीके से अपना विरोध  जताया है अब प्रशासन को जो करना है वो करे हम तो जेल जाने के लिए भी तैयार हैं।  सचिन द्विवेदी ने आरोप लगाया कि  सिंधिया जी हिटलरशाही, तानाशाही के साथ साथ महाराजशाही भी चला रहे है।

ये भी पढ़ें – Rajasthan: कांग्रेस में अंदरूनी विवाद, BJP की होल्डिंग से राजे गायब, बदल रहे सियासी समीकरण