सीरियल किलर की खौफनाक दास्तान, खजाना दिलाने के नाम पर जंगल में ले जाकर करता था हत्या

सीरियल किलर मनीराम सेन मूलतः ग्राम मानोरा थाना ग्यारसपुर जिला विदिशा का निवासी है| जो वर्ष 2000 में पॉच व्यक्तियों की हत्या में आजीवन सजा काटकर वर्ष 2017 में जेल से छूटा है, वर्ष 2006 में भी आरोपी पैरोल से भी फरार हो चुका है

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| खजाना दिलाने के नाम अब तक छह लोगों को मौत के घाट उतार चुका सीरियल किलर (Serial Killer) भोपाल पुलिस (Bhopal Police) के हत्थे चढ़ा है| सीरियल किलर का नाम मनीराम सेन है| पिछले दिनों भोपाल के सूखीसेवनिया के जंगल में पत्थर से कुचलकर इसी ने हत्या की थी| आरोपी ने जमीन में गड़े खजाने का लालच देकर नवंबर 2020 में युवक की हत्या की थी। पुलिस ने इस मामले में आरोपी पर 20 हजार रुपए का इनाम रखा था। अब तक वह 6 लोगों की इसी तरह जंगल में ले जाकर हत्या कर चुका है। पांच हत्या के आरोप में आजीवन करावास की सजा भी काट चुका है|

दरअसल, राजधानी भोपाल के थाना सूखीसेवनिया अंतर्गत ग्राम अब्दुल्ला बरखेड़ी के जंगल में 8 नवम्बर 2020 को पत्थर से सिर कुचलकर आदिल वहाव की नृसंस हत्या की गई थी । घटना स्थल जंगल होने से कारण अंधे कत्ल का कोई मौके का साक्षी नही मिला था । आदिल वहाव से खजाना (जमीन में गढ़ा सोना) दिलाने के नाम पर आरोपी मनीराम सेन ने 17 हजार रूपये लिये थे । मृतक आदिल वहाव द्वारा उसके रूपये वापस करने अथवा खजाना दिलाने का कहने पर आरोपी मनीराम सेन, मृतक आदिल वहाव की ही स्कूटी से घटना स्थल सूखीसेवनिया के जंगल में ले जाकर उसकी हत्या सिर पर पत्थर मारकर की ।

पूजा के बहाने बैठाया और पीछे से कर दिया वार
आरोपी मनीराम सेन उर्फ मनिया द्वारा खजाना (जमीन में गढ़ा सोना) दिलाने के नाम पर मृतक आदिल वहाव को जंगल में ले जाकर हत्या की गई । मृतक आदिल वहाव के.के.आर. बेव न्यूज में कार्य करता था । घटना स्थल जंगल में मृतक आदिल वहाव को जूट के बोरा पर बैठाकर पूजा के वहाने आंख बंद कराकर पीछे से उसके सिर पर पत्थर का बार कर उसकी नृसंस हत्या की गई ।

74 लोगों से की पूछताछ तब मिला आरोपी का सुराग
हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस ने मृतक के परिजन, दोस्त तथा रिश्तेदारों सहित करीबन 74 व्यक्तियों से पूछताछ की गई । जिससे आरोपी मनीराम के द्वारा घटना करने के संबंध में सुराग मिला । घटना के बाद आरोपी मनीराम फरार हो गया था एवं फरारी के दौरान मोबाइल अपने साथ नही रखा था ।

पांच लोगों की हत्या कर सजा काट चुका है सीरियल किलर
आरोपी मनीराम सेन वर्ष 2000 में थाना ग्यारसपुर जिला विदिशा में खजाना दिलाने के नाम पर रूपये लेकर तथा लिये गये रूपये वापस नही करना पड़े इसलिये पॉच व्यक्तियों की हत्या कर चुका है । इसके बाद सीरियल किलर मनीराम सेन डेढ़ वर्ष तक फरार रहा । इस मामले में आरोपी मनीराम सेन को आजीवन कारावास की सजा हुई थी । आजीवन कारावास की सजा वर्ष 2017 में पूर्ण कर अशोका गार्डन थाना क्षेत्र के अंतर्गत नवाव कालौनी में रह रहा था ।

खजाना दिलाने के नाम पर करता था ठगी, फिर हत्या
सीरियल किलर मनीराम सेन मूलतः ग्राम मानोरा थाना ग्यारसपुर जिला विदिशा का निवासी है| जो वर्ष 2000 में पॉच व्यक्तियों की हत्या में आजीवन सजा काटकर वर्ष 2017 में जेल से छूटा है, वर्ष 2006 में भी आरोपी पैरोल से भी फरार हो चुका है । आरोपी जंगल में खजाना निकालने के नाम पर पैसा एठता था, जब खजाना नही निकल पाता तो पैसों की वापसी के लिये जब व्यक्ति दबाव बनाते है तब व्यक्तियों को योजनाबद्ध तरीके से सूनसान जंगल में ले जाकर पूजा-पाठ बहाने आंखे बंद कराकर पीछे से सिर पर चोट पहुंचाकर हत्या कर देता था।

ऐसे पकड़ा गया सीरियल किलर
भोपाल में हुई हत्या के आरोपी की खोज के लिए पुलिस लगातार पूछताछ कर रही थी| आरोपी मोबाइल नही रखता था। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने मुखविर तंत्र फैलाया और आरोपी 5. जनवरी को इलाहाबाद से लौटकर राहतगढ़ जिला सागर पहुंचा ही था कि राहतगढ़ जिला सागर से आरोपी मनीराम सेन को हिरासत में लिया जाकर पूछताछ की, आरोपी ने पुलिस से हत्या की बात स्वीकारी|