चोरी किये 19 हजार 600 डॉलर ठिकाने लगाने आया  शिक्षक, पत्नी सहित गिरफ्तार

आरोपियों से पूछताछ में पता चला है कि कोई गैंग है जो बेग कटिंग का काम करती है और लंबे समय से गैंग सक्रिय है जिसकी विवेचना जारी है। वहीं  जो भी इस सिंडिकेट में शामिल है उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इंदौर, आकाश धौलपुरे।  मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इन्दौर में रविवार को एसटीएफ (STF)ने बड़ा खुलासा करते हुए प्राइमरी शिक्षक रफीक और उसकी पत्नी को रंगे हाथ विदेशी मुद्रा के साथ पकड़ा है। दरअसल, दोनों ही कीमत 14 लाख 30 हजार कीमत के 19,600 डॉलर इंदौर में किसी को बेचने की फिराक में थे।

स्पेशल टॉस्क फोर्स (STF) की इंदौर इकाई के एसपी मनीष खत्री ने बताया कि एसटीएफ (STF)को सूचना मिली थी कि रफीक और उसकी पत्नी डॉलर (Dollar) बेचने की फिराक में थे सूचना के बाद पुलिस एक्शन में आई और एसटीएफ (STF)ने उन्हें धरदबोचा जिसके बाद एसटीएफ(STF) ने डॉलर (Dollar), मोबाइल और बाइक जब्त कर उनके खिलाफ अलग – अलग धाराओं में प्रकरण दर्ज कर पूछताछ की गई। एसपी एसटीएफ (SP STF)ने बताया कि पूछताछ में पता चला है कि मुर्तजा वोरा नामक एक शख्स है उनके कर्मचारी मुंबई में पासपोर्ट और विदेशी मुद्रा का काम करते है। मुर्तजा का कर्मचारी बस में विदेशी मुद्रा लेकर आए थे  और महू के किशनगंज थाना शिकायत दर्ज कराई गई थी कि  बस में बेग कटिंग के दौरान विदेशी मुद्रा सहित सामान चोरी हो गया था।

आरोपियों से पूछताछ में पता चला है कि कोई गैंग है जो बेग कटिंग का काम करती है और लंबे समय से गैंग सक्रिय है जिसकी विवेचना जारी है। वहीं  जो भी इस सिंडिकेट में शामिल है उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। एसटीएफ को ये भी पता चला है गिरफ्त में आये दोनो आरोपी पति पत्नि  के बैग कटिंग करने वाले गिरोह में शामिल लोग रिश्तेदार है। फिलहाल, एसटीएफ ने दोनों  को गिरफ्त में लेकर किशनगंजथाना पुलिस को मामला सौंप दिया ताकि आगे कार्रवाई की जा सके।