खबर का असर : मंत्री की गाड़ी में शराब पीने का मामला, चपरासी पर गिरी गाज

स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कहा कि मुझे घटना की जानकारी मिलते ही चपरासी रूपेश को तत्काल हटा दिया है। सरकारी वाहन का दुरुपयोग करना बहुत ही गलत बात है ऐसी घटना की मैं निंदा करता हूँ। 

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मध्यप्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी (Health Minister Dr Prabhuram Chaudhary) की सरकारी गाड़ी में शराब पीने का वायरल वीडियो की खबर एमपी ब्रेकिंग पर आने के बाद मंत्री ने एक्शन लिया है और उनकी गाड़ी लेकर उसमें शराबखोरी करने के आरोपी चपरासी को हटा दिया है। स्वास्थ्य मंत्री (Health Minister Dr Prabhuram Chaudhary)  ने कहा मुझे घटना की जानकारी मिलते ही दोषी चपरासी रूपेश को तत्काल हटा दिया है। उन्होंने कहा कि सरकारी वाहन का दुरुपयोग करना बहुत ही गलत बात है, ऐसी घटना की मैं निंदा करता हूँ।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में दिख रही गाड़ी पर सरकारी नंबर MP 02 AV 6452 नंबर और एमपी गवर्नमेंट (MP Govt) लिखा है। सरकारी गाड़ी में ड्राइवर सहित तीन लोग बैठे हैं। गाड़ी में शराब पी जा रही है। गाड़ी स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी (Health Minister Dr Prabhuram Chaudhary) का सरकारी वाहन है।  बताया जा रहा है कि औद्योगिक क्षेत्र मंडीदीप के सतलापुर में एक स्थानीय निवासी ने ये वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

दरअसल तेजी से वायरल हो रहे वीडियो में सूनसान सड़क पर खड़ी सफ़ेद रंग की लक्जरी सरकारी गाड़ी के पास एक व्यक्ति वीडियो बनाते हुए जाता है जो ड्राइवर साइड पर जाकर ड्राइवर सीट पर बैठे व्यक्ति से पूछता है कि हूटर बजाने की परमिशन है  जो आप बजा रहे हो, ड्राइवर सीट पर बैठा व्यक्ति जवाब देता है ये सरकारी गाड़ी है, वीडियो बनाने वाला व्यक्ति पूछता है यहाँ सरकारी आदमी कौन है ड्राइवर कहता हैं मैं हूँ।  इसी बीच उसके साथ मौजूद एक अन्य व्यक्ति जो दूसरी तरफ से जाता है, कहता है गाड़ी में शराब पी जा रही है।

ये भी पढ़ें – वीडी शर्मा ने कमलनाथ और दिग्विजय साधा निशाना, कहा दोनों ने हमेशा देश को लूटा है

ड्राइवर सीट के बगल वाली सीट पर बैठा एक युवक शराब पी रहा था जब उसे टोका गया तो उसने पीछे बैठे एक अन्य युवक को शराब की थैली पकड़ा दी।  वीडियो बनाने वाले व्यक्ति ने जब शराब पीने के लिए टोका तो ड्राइवर सीट पर बैठा व्यक्ति कहने लगा जाओ तुम अपना काम करो। ड्राइवर गाड़ी स्टार्ट करने लगा, व्यक्ति ने जब उसे रोकने की कोशिश की तो ड्राइवर धमकी देकर बोला हाथ मत लगा देना गाड़ी में, और इतना कहकर गाड़ी भगा ले गया।

वायरल वीडियो की खबर एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ ने भी प्राथमिकता से पाठकों तक पहुंचाई। मामला संज्ञान में आते ही स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी (Health Minister Dr Prabhuram Chaudhary)  ने आरोपी चपरासी रुपेश को नौकरी से हटा दिया।  एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ (Mp breaking news) से बातचीत में स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कहा कि मुझे घटना की जानकारी मिलते ही चपरासी रूपेश को तत्काल हटा दिया है। सरकारी वाहन का दुरुपयोग करना बहुत ही गलत बात है ऐसी घटना की मैं निंदा करता हूँ।

audio-minister

अब सवाल ये उठता है कि एक चपरासी मंत्री की गाडी लेकर ऐसे खुले आम सड़क पर दोस्तों के साथ शराबखोरी कैसे कर सकता है जबकि ये कोरोना का समय है।

ये भी पढ़ें – बड़ी राहत : मध्य प्रदेश में अब एक्टिव केस 20 हजार, रिकवरी रेट 96% से अधिक

उधर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं प्रदेश प्रवक्ता केके मिश्रा (KK Mishra) ने वायरल वीडियो पर तंज कसा है।  केके मिश्रा ने लिखा – जो सरकार सेक्सवर्कर व शराब को तरज़ीह दे, उसके मंत्री का स्टॉफ सरकारी वाहन में अवैध शराब पिये, क्षम्य है? कोरोनकाल के दौरान डॉ.प्रभुराम चौधरी देश के सफलतम स्वास्थ्य मंत्री के रूप में अंकित हुए हैं, उन्हें पदोन्नत कर गृह मंत्रालय का भी दायित्व दें, शराबखोर स्टॉफ को आउट ऑफ टर्न प्रमोशन।