Cyber Crime: अनजान नंबर का वीडियो कॉल रिसीव ना करें, हो सकते हैं ब्लैकमेलिंग का शिकार

cyber crime: यदि आपके पास किसी भी अज्ञात नंबर से वीडियो कॉल आए, तो सतर्कता बरतें। कॉल अटेंड करने पर आप ब्लैकमेलिंग का शिकार हो सकते हैं।

cyber crime

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में साइबर फ्रॉड (Cyber Fraud) वालों ने लोगों को ब्लैकमेल (Blackmail) करने का नया तरीका निकाल लिया है। यह साइबर अपराधी अब खास के साथ आम पब्लिक को भी निशाना बना रहे हैं। वीडियो कॉल के जरीए ब्लैकमेल का जमकर गोरखधंधा चल रहा है। यदि आपके पास किसी भी अज्ञात नंबर से वीडियो कॉल आए, तो सतर्कता बरतें। कॉल अटेंड करने पर आप ब्लैकमेलिंग (Blackmailing) का शिकार हो सकते हैं। भोपाल में लगातार शिकायत मिलने के बाद सायबर क्राइम ब्रांच पुलिस (Cyber Crime Branch Police) ने आम जनता को अलर्ट करने के लिए एडवाइजरी जारी की है।

यह भी पढ़ें:-LIC ग्राहकों के लिए बड़ी खुशखबरी, Home Loan पर अब नहीं भरनी होगी 6 EMI

कैसे बनाते है शिकार

अपराधी आपके नंबर किसी भी सोशल मीडिया अकाउंट से निकाल लेते हैं। फिर नंबर पर कॉल करते हैं। कॉल करने वाली महिला न्यूड रहती है। फिर जैसे ही कोई व्यक्ति फोन उठाता है और अपना चेहरा दिखाता है तो वह तुरंत स्क्रीनशॉट ले लेते हैं। जिसके बाद ब्लैकमेलिंग का दौर शुरू हो जाता है।

यह भी पढ़ें:-Ujjain News: महाकाल मंदिर के बाहर रेस्टोरेंटों पर खाद्य विभाग ने मारा छापा

साइबर पुलिस ने जारी की एडवाइजरी, ऐसे बचें

  • कभी भी अनजान व्यक्तियों से सोशल माडिया पर दोस्ती ना करें। सिर्फ परिचित लोगों की रिक्वेस्ट एक्सेप्ट करें।
    फ्रेंड लिस्ट में जुडऩे के बाद भी यदि किसी दोस्त की प्रक्यििा संदिग्ध लगती है तो तत्काल उसे प्रोफाइल से अनफ्रेंड कर दें।
  • अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल की सभी प्रकार की सेटिंग को मजबूत करें ताकि हर कोई आपकी प्रोफाइल में जाकर आपकी जानकारी, फ्रेंड लिस्ट और पोस्ट ना देख सकें।
  • किसी को अपना नंबर ना दें. यदि अनजान नंबर से वीडियो कॉलिंग आपने रिसीव भी कर ली तो फ्रंट कैमरे पर अपनी उंगली रखकर छुपा दें।
  • साइबर अपराध होने पर टोल फ्री नंबर 15 52 60 के साथ संबंधित थाने में शिकायत की जा सकती है।