हमीरपुर, डेस्क रिपोर्ट। एक तरफ जहां देश में कोरोना (corona) केस के मामले सामने आ रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ धड़ल्ले से शादी विवाह भी जारी है। शादी विवाह के कारण कई लोग संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। इसी बीच ताजा मामला यूपी (UP) का है। यूपी के हमीरपुर (hamirpur) में एक युवक की बारात निकलने थी। सभी तैयारियां पूरी हो चुकी थी लेकिन बारात निकलने से पहले ही युवक के घर स्वास्थ विभाग की टीम पहुंची और युवक को आइसोलेशन सेंटर (isolation center) ले गई। दरअसल युवक की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।

हमीरपुर जिले के मौदहा विकासखंड के तमौरा गांव में 24 वर्षीय धर्मेंद्र की शादी होनी थी। धर्मेंद्र की बारात महोबा जाने वाली थी। जिसके लिए तैयारियां चल रही थी।  सभी लोग रस्म रिवाज में व्यस्त थे। बरात घर से निकलने वाली थी। तभी स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची।

Read More: कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन, छापेमारी कर पुलिस ने बरामद किए 500 बच्चे, मचा बवाल

इस मामले में स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि किसी ग्रामीण द्वारा दूल्हे के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध कराई गई थी। जिसके बाद प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंचा और एसडीएम के निर्देश के बाद आनन-फानन में दूल्हे को घर पर चल रहे शादी के सभी कार्यक्रम स्थगित करा दिए और संक्रमित दूल्हे को क्वारंटाइन भिजवा दिया।

इतना ही नहीं शादी में शामिल हुए सभी लोगों की कोरोना जांच कर उन्हें आइसोलेशन में रखा गया है। मामले में डॉक्टर का कहना है कि 22 मई को दूल्हे धर्मेंद्र ने कोरोना टेस्ट कराया था। जहां उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। कोरोना पॉजिटिव होने के बाद कम से कम 10 दिन तक आइसोलेशन में रहना है। अब ऐसी स्थिति में धर्मेंद्र सिंह का विवाह रोकना करोड़ों लोगों की जान की हिफाजत के लिए जरूरी था।