इंदौर।आकाश धौलपुरे।

कोरोना वायरस का संक्रमण इंदौर में तेजी से फैल रहा है और इसी का परिणाम है मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के लिहाज से इंदौर में सबसे ज्यादा असर देखा जा रहा है वही दूसरी और देश के पहले 5 संक्रमित शहरों की सूची में भी इंदौर का नाम है लिहाजा ना सिर्फ प्रदेश सरकार बल्कि केंद्र सरकार भी इंदौर से आने वाली जानकारी पर नजर बनाये हुए है। इंदौर में गुरुवार देर रात जारी किए मेडिकल बुलेटिन के हिसाब से अब तक 89 लोग कोरोना पॉजिटिव मरीज है वही 5 लोगो की मौत कोरोना संक्रमण के चलते हो गई है।

इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जाडिया ने शुक्रवार को मीडिया से बात कर जानकारी दी और पुष्टि कर कहा कि इंदौर के एमजीएम मेडिकल कॉलेज की माइक्रोबायलॉजी लैब से 7 पॉजिटिव मरीज और 7 पॉजिटिव रिपोर्ट गांधी मेडिकल कॉलेज से आई है जिसके हिसाब से 89 लोग पॉजिटिव है और 5 लोगो की मौत हो गई है। उन्होंने बताया कि कल 350 लोगो को स्क्रीनिंग की गई थी वही 85 लोगों को होम कोरोंटाइन किया गया इसके अलावा 15 लोगो को कोरोंटाइन किया गया था। वहीं उन्होंने बताया कि अब इंदौर में 1500 लोगो को कोरोंटाइन किया जा चुका है।

स्वास्थ्य विभाग की मानें तो जिन लोगो को कोरोंटाइन किया गया उनमें से ही अधिकांश लोग अब तक पॉजिटिव आये है। वही उन्होंने बताया जितने मरीज बाद में मिलते जा रहे है। शहर के क्षेत्रों को कन्टेंनमेन्ट कर प्रोटोकॉल के तहत देख रेख बढ़ा दी है। वही एसडीएम के मार्गदर्शन में स्वास्थ्य टीम ऐसे क्षेत्रों मे स्क्रिनिंग के साथ कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग भी कर रही है। डॉ. जाडिया ने बताया कि आशा, एएनएम और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की 200 टीम कल से एप के जरिये कोरोंटाइन किये गए लोगों का पूरा डाटा लेगी जिसमे प्रायमरी कांटेक्ट में परिजनो की और सेकंडरी डाटा में आस पास रह रहे लोगो की जानकारी लेगी। वही उन्होंने बताया कि भोपाल से आई सेंट्रल रेपिड रिस्पांस टीम ने इंदौर के स्वास्थ्य विभाग की टीम तैयारियो की जानकारी ली और देखा है साथ ही टीम ने तैयारियों में जो कमी थी उनको सुधारने के लिये मार्गदर्शन भी दिया और आज से उसी दिशा में काम किया जाएगा।