इस सरकारी बैंक ने छात्रों के लिए लॉन्च किया खास सेविंग अकाउंट, मिलेगा मुफ्त बीमा समेत ढेरों सुविधाओं का लाभ, जानें डीटेल

Saving Account

Savings Account For Student: सभी के जीवन में बचत का विशेष महत्व होता है। सेविंग अकाउंट के जरिए लोग अपने पैसे बचाते हैं। छात्रों के जीवन में भी सेविंग अकाउंट का खास महत्व होता है। जिसे देखते हुए पब्लिक सेक्टर के बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank Of Baroda) ने स्पेशल ज़ीरो सेविंग अकाउंट “BoB BRO” लॉन्च किया है। जिसका लाभ 16 वर्ष से 25 आयु वर्ग के युवा उठा पाएंगे। इस बचत खाते के तहत ग्राहकों को बैंकिंग आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कई सुविधाओं का लाभ भी मिलेगा।

बैंक ने क्या कहा?

इस अवसर पर बीओबी के चीफ जनरल मैनेजर (खुदरा देयताएं और एनअररआई व्यवसाय) राजेन्द्र सिंह नेगी ने कहा, “बीआरओ सेविंग अकाउंट युवा वयस्कों को एक खास उत्पाद की पेशकश के साथ-साथ बैंकिंग वर्ल्ड से परिचरित भी कराता है, जो उनकी विशिष्ट बैंकिंग आवश्यकताओं का ख्याल रखता है। उन्हें सुविधाओं और लाभों तक पहुँच प्रदान करता है, जो उनके जीवन में मत्वपूर्ण हैं।”

छात्रों को लोन पर मिलेगा ऑफर

इस बचत खाते के तहत एजुकेशन लोन बिना प्रोसेसिंग फीस के साथ मिलता है। जरूरत पड़ने पर ग्राहक रियायती ब्याज दरों पर कर्ज ले सकते हैं।

मुफ़्त में मिलेगा बीमा कवरेज

बीओबी बीआरओ सेविंग अकाउंट पर फ्री में 2 लाख रुपये तक का पर्सनल एक्सीडेंटल बीमा कवरेज मिलता है।

इन सुविधाओं का भी मिलता है लाभ

इस स्पेशल सेविंग अकाउंट के जरिए युवा ग्राहकों को निशुल्क धरेलू एयरपोर्ट में लाउंज (2 प्रति क्वाटर) की सुविधा उपलब्ध होगी। ऑटो स्वीप फ़ैसिलिटी, अनलिमिटेड फ्री चेक की पत्तियां, फ्री एसएमएस/ईमेल अलर्ट और आकर्षक क्रेडिट कार्ड ऑफर्स मिलते हैं। इसके अलावा ग्राहक 100% निशुल्क डिमैट अकाउंट भी खोल सकते हैं। लाइफ्टाइम फ्री रुपे प्लैटिनम डेबिट कार्ड भी आकर्षक ऑफर्स के साथ मिलता है। इसके अलावा यूपीआई, आईएमपीएस, NEFT इत्यादि डिजिटल चैनल और ब्रांच के माध्यम फ्री लेनदेन करने की सुविधा भी उपलब्ध है।


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News