सावधान: आरबीआई ने इस बैंक के डिजिटल कारोबार पर लगाई अस्थाई रोक, ये है कारण

आरबीआई ने आदेश में बैंक को सलाह दी है कि वह अपने कार्यक्रम डिजिटल 2.0 और आईटी अनुप्रयोगों के तहत आगामी डिजिटल व्यापार को अस्थाई रूप से रोक दें। इसके साथ ही नए क्रेडिट कार्ड की सोर्सिंग पर भी रोक लगा दे।

reserve-bank-doller

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) ने एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) को आगामी डिजिटल कारोबार (Digital business) और नए क्रेडिट कार्ड (credit card) जारी करने पर रोक लगा दी है। रिजर्व बैंक (reserve bank) ने एसडीएससी को डाटा सेंटर में पिछले महीने हुई परेशानी के चलते आदेश दिया है। हालांकि इस मामले में एचडीएफसी बैंक का कहना है कि आईटी सिस्टम (IT System) को मजबूत करने के लिए उन्होंने कई उपाय किए हैं और शेष काम में भी तेजी से सुधार लाया जा रहा है। इसके साथ ही बैंक का मानना है कि डिजिटल बैंकिंग चैनलों और नए क्रेडिट कार्ड के फैसले का उनके व्यवसाय पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

दरअसल गुरुवार को भारतीय रिजर्व बैंक आरबीआई ने निजी क्षेत्र के एचडीएफसी बैंक क्रेडिट कार्ड जारी करने से अस्थाई रूप से रोक लगाई है।इस मामले में एचडीएफसी का कहना है कि आरबीआई ने आदेश में बैंक को सलाह दी है कि वह अपने कार्यक्रम डिजिटल 2.0 और आईटी अनुप्रयोगों के तहत आगामी डिजिटल व्यापार को अस्थाई रूप से रोक दें। इसके साथ ही नए क्रेडिट कार्ड की सोर्सिंग पर भी रोक लगा दे।

Read More: भोपाल गैस त्रासदी की 36वीं बरसी पर सीएम शिवराज की बड़ी घोषणा, कही ये महत्वपूर्ण बात

इतना ही नहीं एचडीएफसी बैंक ने कहा है कि पिछले 2 वर्षों में उसने अपने आईटी सिस्टम को मजबूत करने के लिए कई तरीके के उपाय किए हैं। इसके अलावा डिजिटल बैंकिंग चैनलों में परेशानी को दूर करने के लिए भी ठोस कदम उठाए जा रहे हैं। भारतीय रिजर्व बैंक का कहना है कि वह कमियों की जांच करें और तुरंत ही जवाबदेही तय करें।

वही शेयर मार्केट (share market) से चर्चा करते हुए एचडीएफसी बैंक ने कहा कि आरबीआई ने एचडीएफसी बैंक लिमिटेड को 2 दिसंबर को एक आदेश जारी किया है जिसके मुताबिक उसके इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, पेमेंट बैंकिंग में काफी परेशानियां देखी गई है। जिसके बाद आरबीआई ने क्रेडिट कार्ड जारी करने के मामले में अस्थाई रूप से रोक लगाई है।