Cabinet Decision: किसानों के लिए मोदी सरकार का तोहफा, 14 खरीफ फसलों की MSP में हुआ इजाफा, यहाँ जानें नए रेट

खरीफ फसल सत्र 2024-25 में धान के एमएसपी में 117 रुपये बढ़ाकर 23,00 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है। तुअर/अरहर का एमएसपी 550 रुपये बढ़कर 7550 रुपये प्रति क्विंटल होगा।

Manisha Kumari Pandey
Published on -
msp hike

Cabinet Decision: बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक किसानों के हित में अहम फैसला लिया है। विपणन सत्र 2024-25 के लिए खरीफ सीजन के फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य तय हो चुका है। सरकार ने धान समेत 14 फसलों के एमएसपी में इजाफा (MSP Hike) किया है। इस फैसले से करोड़ों किसानों को लाभ होगा। उन्हे उनकी उपज का बेहतर दाम मिल पाएगा।

खरीफ फसलों की नई दरें

खरीफ फसल सत्र 2024-25 में धान के एमएसपी में 117 रुपये बढ़ाकर 23,00 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है। ग्रेड ए धान के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य 2320 होगा। जवार हाइब्रिड का रेट 191 रुपये की बढ़ोत्तरी के साथ 3371 रूपये प्रति क्विंटल तय किया गया है। बाजरा का मूल्य 125 रुपये बढ़कर 2625 रुपये प्रति क्विंटल हो गया है। रागी के एमएसपी में 444 रुपये का इजाफा किया है, नया मूल्य 2625 रुपये प्रति क्विंटल होगा। तुअर/अरहर का एमएसपी 550 रुपये बढ़कर 7550 रुपये प्रति क्विंटल होगा। मक्का की नई दरें 135 रुपये की वृद्धि के साथ 2225 रुपये प्रति क्विंटल होगी। मूंग की नई एमएसपी 124 रुपये की बढ़त के साथ 8682 रुपये प्रति क्विंटल है।

तिलहन फसलों में मूंगफली का एमएसपी 406 रुपये की वृद्धि के साथ 6783 रुपये प्रति क्विंटल हो चुका है। सोयाबीन का एमएसपी 292 रुपये बढ़कर 4892 रुपये प्रति क्विंटल होगा। सूरजमुखी का मूल्य 520 रुपये की बढ़ोत्तरी के साथ 7280 रुपये प्रति क्विंटल होगा। तिल का एमएसपी 632 रुपये बढ़कर 9267 रुपये प्रति क्विंटल होगा। नाइजरसीड न्यूनतम समर्थन मूल्य 983 रुपये बढ़कर 8717 रुपये प्रति क्विंटल होगा। मध्यम और लंबे रेशेवली कपास की एमएसपी में 501 रुपये की वृद्धि की गई है। फसल सत्र 2024-25 के लिए लंबे रेशेवाले कपास का एमएसपी 7521 रुपये प्रति क्विंटल और माध्यम रेशेवाले कपास का मूल्य 7121 रुपये प्रति क्विंटल होगा।

एमएसपी के रूप में किसानों को मिलेंगे 2 लाख करोड़ रुपये

किसानों खरीफ फसलों के एमएसपी की घोषणा करते हुए केन्द्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा, “इस फैसले से किसानों को MSP के रूप में करीब 2 लाख करोड़ रुपये मिलेंगे। यह पिछले सीजन के मुकाबले 35,000 करोड़ रुपये अधिक है।”

किसानों की इनकम बढ़ेगी- रक्षामंत्री

इस फैसले को लेकर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया। उन्होनें सोशल मीडिया X पर कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आज कैबिनेट की बैठक में साल 2024-25 के लिए खरीफ फसलों के लिए बढ़े हुए न्यूनतम समर्थन मूल्य को मंजूरी दे दी गई है। इससे किसानों को उनकी उपज का बेहतर दाम मिलेगा और उनकी आय में वृद्धि होगी।”

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News