RBI Governor: क्या आप जानते हैं आरबीआई के गवर्नर को कितनी मिलती है सैलरी? इनको मिलने वाली सुविधाओं के बारे में भी जानें, पढ़ें खबर

RBI Governor: क्या आप जानते है आरबीआई गवर्नर का रोल कितना अहम होता है? क्या आप जानते है आरबीआई गवर्नर की सैलरी कितनी होती है? यदि आप भी इन सवालों से अनजान है तो आज इस खबर में हम आपको यह जानकारी देने वाले हैं।

RBI Governor: भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर की भूमिका भारतीय वित्तीय प्रणाली में अत्यंत महत्वपूर्ण होती है। चाहे नया नोट छापना हो या पुराने नोट को बंद करना, बैंकों से संबंधित कोई भी बड़ा फैसला लेना हो, यह सभी कार्य आरबीआई गवर्नर के अधिकार क्षेत्र में आते हैं। दरअसल इसे बैंकों का बैंक भी कहा जाता है।

आपको बता दें आरबीआई के मौजूदा गवर्नर शक्तिकांत दास हैं, जो इस समय अपने कार्यकाल के विस्तार के साथ इस महत्वपूर्ण पद को संभाल रहे हैं। तो चलिए इस खबर में हम आपको आरबीआई के गवर्नर के पद के बारें में कई महत्वपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

आरबीआई गवर्नर की सैलरी और मिलने वाली सुविधाएं:

दरअसल आरबीआई गवर्नर की सैलरी और उनके अधिकारों को लेकर लोगों के मन में कई सवाल होते हैं। जानकारी दे दें कि वित्तीय वर्ष 2023-24 में आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास की मासिक सैलरी 2.5 लाख रुपये थी। वहीं उनसे पहले आरबीआई के गवर्नर रहे उर्जित पटेल की भी मासिक सैलरी की बात की जाए तो वह भी लगभग इतनी ही थी।

इसके अलावा, आरबीआई के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर्स की मासिक सैलरी की बात करें तो यह लगभग 2.16 लाख रुपये होती है। वेतन के साथ गवर्नर को सरकार की ओर से कई सुविधाएं भी मिलती हैं, जैसे कि घर, गाड़ी, ड्राइवर, मंहगाई भत्ता, ग्रेड अलाउंस, मेडिकल और एजुकेशन के लिए वित्तीय सहायता भी उपलब्ध होती है।

मौजूदा आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास का परिचय?

जानकारी दे दें कि शक्तिकांत दास, जो वर्तमान में आरबीआई के 25वें गवर्नर हैं, ओडिशा के निवासी हैं। शक्तिकांत दास का जन्म भुवनेश्वर में 26 फरवरी 1957 को हुआ था। वहीं शक्तिकांत दास के एजुकेशन की बात करें तो उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से इतिहास में एमए किया है और यूपीएससी की परीक्षा पास की है। 1980 बैच के आईएएस अधिकारी के रूप में वे कठिन से कठिन मुद्दों पर भी आम सहमति बनाने में माहिर माने जाते हैं।


About Author
Rishabh Namdev

Rishabh Namdev

मैंने श्री वैष्णव विद्यापीठ विश्वविद्यालय इंदौर से जनसंचार एवं पत्रकारिता में स्नातक की पढ़ाई पूरी की है। मैं पत्रकारिता में आने वाले समय में अच्छे प्रदर्शन और कार्य अनुभव की आशा कर रहा हूं। मैंने अपने जीवन में काम करते हुए देश के निचले स्तर को गहराई से जाना है। जिसके चलते मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता और पत्रकार बनने की इच्छा रखता हूं।