UP Police Bharti: यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में बड़ी अपडेट, ब्लैक लिस्ट हुई एजुटेस्ट कंपनी, जल्द घोषित होगी पुनर्परीक्षा की तारीख 

उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड परीक्षा कराने वाली कंपनी एजुटेस्ट को ब्लैकलिस्ट कर दिया है। जल्द ही पुनर्परीक्षा की तारीख घोषित हो सकती है। परीक्षा के तहत 60 हजार से अधिक कांस्टेबल पदों पर भर्ती होगी।

Manisha Kumari Pandey
Published on -
up police bharti

UP Police Bharti 2024: पुलिस पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में बड़ी अपडेट सामने आई है। उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड ने परीक्षा का आयोजन करने वाली अहमदाबाद की कंपनी टेस्ट के खिलाफ सख्त एक्शन लिया है। कंपनी को ब्लैक लिस्ट कर दिया है। विभाग में भर्ती परीक्षा कराने की जिम्मेदारी अब Edu Test को नहीं सौंपी जाएगी। इसके अलावा विभाग कंपनी के सख्त कार्यवाही करने की तैयारी में जुटा हुआ है। STF द्वारा संचालक को अब तक 4 बार नोटिस भी भेजा जा चुका है। लेकिन कंपनी एक बार भी बयान दर्ज करने के लिए पेश नहीं हुआ।

कब घोषित होगी रि-एग्जाम की डेट?

यूपी सिपाही भर्ती परीक्षा का आयोजन 17 और 18 फरवरी को हुआ था। लेकिन पेपर लीक को 24 मैच को परीक्षा रद्द कर दी गई थी। परीक्षा का आयोजन पुनः किया जाएगा। लेकिन तारीखों को लेकर अब तक कोई घोषणा नहीं हुई है। लाखों उम्मीदवार इंतजार में बैठे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 20 से 25 जून के बीच कभी भी रि-एग्जाम की तारीख घोषित हो सकती है। उम्मीदवारों को अपडेट्स के लिए ऑफिशियल वेबसाइट uppbpb.gov.in को नियमित तौर पर विजिट करते रहने की सलाह दी जाती

पुनर्परीक्षा के दौरान कड़ी होगी सुरक्षा व्यवस्था

बता दें कि यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा को रद्द करते हुए सीएम योगी आदित्य नाथ ने 6 महीने का आश्वासन दिया था। जिसे पूरा होने में मात्र 40 दिन ही बचे हैं। अब विभाग पुनर्परीक्षा की तैयारियों में जुट चुका है। इस बार परीक्षा में कोई गड़बड़ी न हो यह सुनिश्चित करने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे। हाल ही में रि-एग्जाम को लेकर भर्ती बोर्ड ने सभी जिलों के एसपी, एसएसपी और पुलिस कमिश्नर से रिपोर्ट भी मांगी थी।

60 हजार से अधिक पदों पर होनी है भर्ती 

यूपी कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा के तहत इस साल कुल 60,244 पदों पर भर्ती होनी है। जिसमें से जनरल के लिए 24,102 पद, ईडब्ल्यूएस के लिए 6024, ओबीसी के लिए 16,264, एससी के लिए 12,650 और एसटी के लिए 1204 पद रिक्त हैं।

 

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News