CBSE Result 2024: सीबीएसई 10वीं परीक्षा के लिए मार्क्स वेरीफिकेशन प्रक्रिया शुरू, ऐसे करें आवेदन, देखें पूरा प्रोसेस

सीबीएसई कक्षा 10वीं के लिए मार्क्स वेरीफिकेशन लिंक एक्टिव हो चुका है। छात्र 24 मई तक आवेदन कर सकते हैं।

cbse news

CBSE Result 2024: केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Central Board Of Secondary Education) ने कक्षा 10वीं के लिए मार्क्स वेरीफिकेशन और Re-evaluation प्रक्रिया शुरू कर दी है। बता दें कि सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं के परिणाम 13 मई को घोषित कर दिए थे। जो भी छात्र बोर्ड परीक्षा में प्राप्त अंकों से संतुष्ट नहीं हैं, वे ऑनलाइन मार्क्स-वेरीफिकेशन, आन्सर-शीट फोटोकॉपी और रि-ईवैल्यूऐशन के लिए आवेदन कर सकते हैं।

24 मई तक करें मार्क्स वेरीफिकेशन के लिए आवेदन

मार्क्स वेरीफिकेशन के लिए एप्लीकेशन लिंक 20 मई यानि आज एक्टिव हो चुकी है। छात्र 24 मई तक ऑफिशियल वेबसाइट cbse.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। पुनर्मूल्यांकन प्रक्रिया 9 जून से शुरू होगी, अंतिम तिथि 10 जून 2024 होगी। वहीं परीक्षार्थी 10वीं उत्तरपुस्तिकाओं के लिए 4 से 5 जून तक आवेदन कर सकते हैं। बता दें कि जो छात्र मार्क्स वेरीफिकेशन के लिए आवेदन करेंगे, केवल उन्हें ही रि-चेकिंग के लिए उत्तरपुस्तिकाएं प्राप्त होंगी।

कितनी है फीस?

पुनर्मूल्यांकन, मार्क्स वेरीफिकेशन और आन्सर-शीट फोटोकॉपी के लिए निर्धारित शुल्क का भुगतान करना होगा। मार्क्स वेरीफिकेशन के लिए प्रत्येक विषय पर 500 रुपये शुल्क का भुगतान करना होगा। आन्सर-शीट फोटोकॉपी के लिए 500 रुपये प्रति उत्तर पुस्तिका फीस है। पुनर्मूल्यांकन के लिए 100 रुपये प्रति प्रश्न का भुगतान करना होगा।

cbse news

ऐसे करें आवेदन

  • सबसे पहले सीबीएसई के ऑफिशियल वेबसाइट www.cbse.gov.in पर जाएं।
  • अब परीक्षा संगम के लिंक पर क्लिक करें।
  • नया पेज खुलेगा। “Continue” बटन पर क्लिक करें।
  • Schools (Ganga) के लिंक पर क्लिक करें।
  • “School Digilocker and Post Exam Activities” के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • अब “Re-Checking और Re-evaluation” के लिंक पर क्लिक करें।
  • नया पेज खुलेगा। रोल नंबर, 5 डिजिट स्कूल नंबर और सेंटर नंबर दर्ज करें। “Proceed” बटन पर क्लिक करें।
  • सारी जानकारी सही-सही दर्ज करें। फीस का भुगतान करें।
  • आवेदन पत्र को जमा करें।

 

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है।अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"